Breaking

. विकास की कलम देश में सबसे तेजी से बढ़ती हुई हिंदी समाचार वेबसाइट है... जो हिंदी न्यूज साइटों में सबसे अधिक विश्वसनीय, प्रामाणिक और निष्पक्ष समाचार अपने समर्पित पाठक वर्ग तक पहुंचाती है... इसकी प्रतिबद्ध ऑनलाइन संपादकीय टीम हर रोज विशेष और विस्तृत कंटेंट देती है... हमारी यह साइट 24 घंटे अपडेट होती है, जिससे हर बड़ी घटना तत्काल पाठकों तक पहुंच सके... आप भी अपने क्षेत्र से जुडी घटनाये समस्याएँ एवं समाचार हमारे Whatsapp 8770171655 पर भेज सकते है...

शनिवार, 17 अक्तूबर 2020

जबलपुर: कांग्रेस नेता अमीन कुरैशी का तालिबानी फरमान, इस परिवार का सामाजिक बहिष्कार करो


 

हुक्का पानी बंद करना यानी सामाजिक बहिष्कार करना खाप पंचायत में या अक्सर हरियाणा राजस्थान में सुना जाता था। पर यह कुपर्था ना केवल इन प्रदेशों में वरन भारत के सभी राज्य में विद्यावान है। हम आपको बता दें की देश के कई प्रदेशों में सामाजिक बहिस्कार करना अपराध की श्रेणी में आता है जिसमे इस कानून के तहत अगर किसी ज़िला अधिकारी को सामाजिक बहिष्कार से जुड़े किसी काम की जानकारी मिलती है तो वह उसे आदेश देकर तुरंत रोक सकता है। 


*यूपी में बड़ा हादसा:* *पीलीभीत में बस और पिकअप वैन में भीषण टक्कर* *8 की मौत और 32 घायल*


क़ानून तोड़ने वाले को तीन साल की सज़ा या एक लाख रुपये तक का जुर्माना हो सकता है, या फिर दोनों भी। क़ानून सिर्फ एक व्यक्ति ने तोड़ा हो या किसी समूह ने सज़ा एक बराबर ही दी जाएगी। सामाजिक बहिष्कार का अपराध जमानती है। जल्दी न्याय मिल सके इसके लिए यह निर्धारित किया गया है कि चार्जशीट दाखिल करने की तारीख से छह महीने की अवधि के भीतर परीक्षण पूरा करना होगा।


*देश की जागरूक जनता के सहयोग से* *भारत में लग रही कोरोना पर लगाम* *एक्टिव केस अब 8 लाख से कम*



 ताजा मामला मध्यप्रदेश के जबलपुर से सामने आया है जहाँ पुश्तैनी जमीन के किसी विवाद को लेकर कांग्रेस नेता और  कुरैशी समाज के अध्यक्ष अमीन कुरैशी ने एक परिवार का सामाजिक बहिष्कार किया है अब वह परिवार जन सामाजिक बहिष्कार की प्रताड़ना को झेल रहे है पीड़ित परिवार का आरोप है की पुलिस इस मामले में कुछ न करते हुए चुप्पी सादे बैठी है जबकि वह लोग पुलिस के सभी आला अधिकारीयों से गुहार लगा चुके है।



जरूर पढ़ें :- *बीमार मां को देखने अस्पताल जा रही नाबालिका का* *रास्ते से अपहरण कर..किया गया गैंगरेप* *मां दिनभर अस्पताल में करती रही इन्तेजार*


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम

चीफ एडिटर

विकास सोनी

लेखक विचारक पत्रकार

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें