Breaking

बुधवार, 7 अक्तूबर 2020

यहां पुलिसवाले ही कर रहे थे शराब तस्करी.. थाने से ली थी होम कोरेन्टीन की छुट्टी.. जानिए कौन है ये पुलिसकर्मी...?? विकास की कलम...पर

यहां पुलिसवाले ही कर रहे थे शराब तस्करी..

थाने से ली थी होम कोरेन्टीन की छुट्टी..

जानिए कौन है ये पुलिसकर्मी...??

विकास की कलम...पर




पुलिस को आपने अक्सर शराब तस्करी करने वाले आरोपियों की, धरपकड़ करते देखा ही होगा । लेकिन आज हम आपको एक ऐसी वारदात बताएंगे । जहां पर खुद पुलिसकर्मी बकायदा गाड़ी में बैठ कर, शराब की तस्करी को अंजाम दे रहे थे । लेकिन उनके यह मंसूबे कामयाब ना हो सके । और पुलिस ही पुलिस की गिरफ्त में आ गई। बात चौंकाने वाली है लेकिन सच है।




मामला मध्य प्रदेश के कटनी जिले से लगा हुआ, बहोरीबंद बाकल थाने का है ।जहां  अवैध शराब की तस्करी करते हुए 2 पुलिसकर्मियों सहित एक अन्य आरोपी गिरफ्तार हुआ है । इस धरपकड़ में पुलिस ने तस्करी में उपयोग होने वाली कार एवं बड़ी मात्रा में रखी हुई शराब को जप्त किया है।


अभी पढें :-जबलपुर पहुंचे केंद्रीय इस्पात/राज्य मंत्री..कांग्रेस पर साधा निशाना..जानिए क्या कहा मंत्री जी ने...


बताया जा रहा है कि पुलिस को विश्वसनीय मुखबिर से सूचना मिली थी कि, दमोह जिले के रायपुरा कुम्हारी की ओर से पुलिस की वर्दी में कार के माध्यम से अवैध शराब कटनी और जबलपुर जिले में तस्करी की जा रही है। मुखबिर की सूचना को गंभीरता से लेते हुए बहोरीबंद पुलिस एवं बाकल पुलिस की एक टीम गठित की गई। कटनी के सिलिमनाबाद एसडीओपी, पीके सारस्वत ने योजनाबद्ध तरीके से पूरी रणनीति बनाई और बहोरीबंद बाकल के पेट्रोल पंप के पास पुलिस चेकिंग पॉइंट लगाया गया।


जरूर पढ़ें :- यहां दिनदहाड़े घर मे घुसकर 3 साल की बच्ची से की गई अश्लीलता.. केबल सेटअप बॉक्स लगाने आये थे आरोपी


चेकिंग के दौरान संदिग्ध काले रंग की कार को रोका गया। जिसमे 165 लीटर देशी शराब रखी हुई थी। यह कार मूलतः जबलपुर की बताई जा रही है। कार में ड्राइवर सहित दो अन्य लोग भी पुलिस की वर्दी में थे। जिन से कड़ाई से पूछताछ की गई तो उनमें से एक ने अपना नाम मनोज अरैया बताया। जो कि जबलपुर के कोतवाली थाने में पदस्थ है। उसके साथ ही दूसरे साथी ने अपना नाम रामनरेश तिवारी बताया। जो कि मूलतः पुलिस लाइन का निवासी है और वह भी कोतवाली थाने में ही पदस्थ है ।



खास बात यह है कि पकड़ा गया आरक्षक मनोज कोविड-19 के चलते क्वॉरेंटाइन के लिए छुट्टी पर था। ठीक उसी तरीके से आरक्षक रामनरेश ने भी छुट्टी ली हुई थी।


खास ख़बर :- सिर्फ कागजों पर दुरुस्त है..स्वास्थ्य व्यवस्था..मरीज के परिजनों ने अव्यवस्था का वीडियो किया वायरल


कोरोना संक्रमित होने की आड़ में छुट्टी लेकर दोनों आरक्षक, जबलपुर और कटनी में शराब की तस्करी कर रहे थे। इनके साथ गिरफ्तार हुआ एक अन्य साथी योगेश कुमार भी जबलपुर का ही है। और इन तीनों की तिकड़ी अवैध शराब लेकर कटनी और जबलपुर में खपा रही थी।

बहरहाल पुलिस ने तीनों के खिलाफ मामला दर्ज कर उन्हें कोर्ट भेजते हुए पूरे मामले की बारीकी से जांच शुरू कर दी है।


वीडियो ख़बर देखने के लिए यहां क्लिक करें...




नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम

चीफ एडिटर

विकास सोनी

लेखक विचारक पत्रकार



  


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार