Breaking

बुधवार, 7 अक्तूबर 2020

#रेलवे_निजीकरण को लेकर #सेंट्रल_रेलवे_एंप्लाइज_यूनियन का प्रदर्शन #WCR के #महाप्रबंधक_कार्यालय का घेराव


#रेलवे_निजीकरण को लेकर

#सेंट्रल_रेलवे_एंप्लाइज_यूनियन का प्रदर्शन

#WCR के #महाप्रबंधक_कार्यालय का घेराव




 केंद्र सरकार द्वारा रेलवे के प्राइवेटाइजेशन को लेकर कर्मचारियों की नाराजगी अब साफ साफ दिखाई देने लगी है। यहि कारण है कि सेंट्रल रेलवे एंप्लाइज यूनियन के बैनर तले नाराज कर्मचारियों ने पश्चिम मध्य रेल के महाप्रबंधक कार्यालय का घेराव किआ। और आम सभा कर सरकार की नीतियों को जमकर आड़े हाथों लिया। 




रेलवे कर्मचारी संगठन के नेताओं ने आरोप है की, भारत सरकार कुछ उद्योगपतियों के हाथों की कठपुतली बनकर, उनके इशारों पर काम कर रही है। रेलवे का अगर निजीकरण होगा तो आम आदमी का सफर करना तो दूर उसका रेलवे के प्लेटफॉर्म पर कदम रखना भी दूभर हो जाएगा। वेस्ट सेंट्रल रेलवे एंप्लाइज यूनियन के नेताओं ने भर्ती प्रक्रिया पर भी सवाल उठाते हुए कहा है कि हाल ही में रेलवे ने नई भर्तियां जरूर निकाली लेकिन कुछ चुनिंदा लोगों को ही इसका फायदा मिल पाया है। 




आम सभा के दौरान कर्मचारी नेताओं ने रेलवे के कर्मचारियों को मिलने वाले हकों को लेकर भी अपनी आवाज बुलंद की और ऐलान किया है कि सरकार ने अगर उनकी मांगों पर गौर नहीं किया तो वे सिलसिलेवार आंदोलन छेड़ कर बगावत का बिगुल फूंक देंगे। 


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम

चीफ एडिटर

विकास सोनी

लेखक विचारक पत्रकार

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार