पोखरण में गूंजी.."नाग" इस एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का हुआ आखिरी ट्रायल.. DRDO ने की है विकसित - Vikas ki kalam,जबलपुर न्यूज़,Taza Khabaryen,Breaking,news,hindi news,daily news,Latest Jabalpur News

Breaking

पोखरण में गूंजी.."नाग" इस एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का हुआ आखिरी ट्रायल.. DRDO ने की है विकसित

पोखरण में गूंजी.."नाग" 

इस एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का हुआ आखिरी ट्रायल..

DRDO ने की है विकसित


"नाग" एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल


भारत के दुश्मनों की धड़कनें तेज करते हुए आखिरकार राजस्थान के पोखरण में नाग एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का आखिरी सफल परीक्षण किया गया। गुरुवार की सुबह सुबह 06.45 बजे पोखरण का पूरा क्षेत्र नाग की दहाड़ से गूंज उठा। इस मिसाइल का टेस्ट वारहेड पर किया गया है। इस देसी मिसाइल का निर्माण रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन(DRDO) द्वारा किया गया है।


बच्चे से कुकर्म कर , करंट लगाकर की हत्या...फिर पकड़े जाने के डर से खुद भी खुदकुशी की

 

किसी से कम नहीं है यह देसी मिसाइल


आपको बता दें कि नाग एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल पूरी तरह से देसी उत्पाद है। भारत द्वारा निर्मित थर्ड जनरेशन की इस मिसाइल के लगातार कई परीक्षण किए जा चुके हैं। बीते सालों में 2017 2018 और 2019 में इसे कसौटी ओ में परखा जा चुका है जो कि लगभग अपने सभी परीक्षण में सफल उतरी है। वजन में काफी हल्की होने के साथ-साथ इसमें अचूक मारक क्षमता है जोकि एक ही वार में दुश्मन के टैंक को तबाह कर सकती है।


यह एक छोटी रेंज की मिसाइल है जोकि फाइटर जेट व्हाट्सएप समेत अन्य सभी संसाधनों के साथ काम कर सकती है भारत में करीब 1 महीने में दर्जनों से अधिक बार ऐसी स्वदेशी मिसाइल का परीक्षण किया है।


*केबिनेट की बैठक में मिली मंजूरी..* *30 लाख सरकारी कर्मचारियों को खुशखबरी...* *दीवाली में मिलेगा..बोनस का तोहफा..*


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम

चीफ एडिटर

विकास सोनी

लेखक विचारक पत्रकार




 


पेज