Breaking

शनिवार, 19 सितंबर 2020

शिक्षा का मंदिर निकला.. शराब का कारखाना.. आबकारी की दबिश में हुआ.. चौकाने वाला खुलासा...

शिक्षा का मंदिर निकला..

शराब का कारखाना..

आबकारी की दबिश में हुआ..

चौकाने वाला खुलासा...

स्कूल में शराब का कारखाना


स्कूल, विद्यालय ,पाठशाला इन नामों का जिक्र होते ही जहन में शिक्षा के मंदिर की तस्वीर उभर आती है। लेकिन इस ख़बर को पढ़ने के बाद हो सकता है आपका नजरिया ही बदल जाये। क्योंकि कुछ मौकापरस्त लोगों ने शिक्षा के पवित्र मंदिर को शराब के कारखाने में तब्दील कर दिया। बात चौकाने वाली है लेकिन सच है...

जिन कमरों में माता सरस्वती की तस्वीर और प्रेरणादायक महापुरुषों के चित्र देखकर मन प्रफुल्लित हुआ करता है..

आज उन कमरों में शराब का असला और चारों ओर आ रही महुए लाहन की बदबू का साम्राज्य है..


आखिर कहाँ का है मामला..???

Vikas ki kalam,jabalpur news,top news,breaking news,taza khabar,mp news,jabalpur hulchal, crime news,mp politics,jabalpur kisaan,  jabalpur education news, implement news,khulasa news,shivraj singh chouhan, narendra modi,amit shaah,MP BJP,MP Congress, kamalnath,digvijaya singh, विकास की कलम,जबलपुर न्यूज़,ताजा खबर,ब्रेकिंग न्यूज़ जबलपुर.जबलपुर क्राईम, जबलपुर पर्दाफाश,जबलपुर जॉब न्यूज़, ताज़ा ख़बर, शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश, राजनीति, बेरोजगारी, आम जनता। General News,Social News,Auto News,Tech News,Legal News,CrimeNews,National News,International News,Lifestyle News,Art News,Entertainment News,Sports News,Legal News,Business News International,Local,Social,Entertainment, Business,Crime, Astrology,Politics,Health Science,Environtment, Sport,Lifestyle,Technology


ये पूरा मामला मध्यप्रदेश के जबलपुर जिले का है। जहां शराब माफियाओं ने अब स्कूल को भी अपनी गिरफ्त में ले लिया। और बेधड़क यहां से शराब बनाई एवं बेची जा रही थी।ये पूरा कारोबार शाश्कीय माध्यमिक बालक शाला घमापुर से संचालित किया जा रहा था। गौरतलब हो कि घमापुर क्षेत्र का कुचबंदिया मोहल्ला पहले से ही घर घर कच्ची शराब बनाने के लिए बदनाम है। ऐसे में क्षेत्र के सरकारी स्कूल में शराब का कारखाना वाली कहबर ने क्षेत्र के जिम्मदारों के होश उड़ा दिए है।


कैसे हुआ खुलासा..???

Vikas ki kalam,jabalpur news,top news,breaking news,taza khabar,mp news,jabalpur hulchal, crime news,mp politics,jabalpur kisaan,  jabalpur education news, implement news,khulasa news,shivraj singh chouhan, narendra modi,amit shaah,MP BJP,MP Congress, kamalnath,digvijaya singh, विकास की कलम,जबलपुर न्यूज़,ताजा खबर,ब्रेकिंग न्यूज़ जबलपुर.जबलपुर क्राईम, जबलपुर पर्दाफाश,जबलपुर जॉब न्यूज़, ताज़ा ख़बर, शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश, राजनीति, बेरोजगारी, आम जनता। General News,Social News,Auto News,Tech News,Legal News,CrimeNews,National News,International News,Lifestyle News,Art News,Entertainment News,Sports News,Legal News,Business News International,Local,Social,Entertainment, Business,Crime, Astrology,Politics,Health Science,Environtment, Sport,Lifestyle,Technology


लंबे समय से जबलपुर आबकारी पुलिस को क्षेत्र में अवैध देशी शराब के निर्माण और विक्रय की शिकायतें मिल रही थी। पहले भी इस क्षेत्र में कुछ छुटपुट कार्यवाही की जा चुकी थी। लेकिन आबकारी पुलिस को कोई भी बड़ी सफलता नहीं मिली थी। 

Vikas ki kalam,jabalpur news,top news,breaking news,taza khabar,mp news,jabalpur hulchal, crime news,mp politics,jabalpur kisaan,  jabalpur education news, implement news,khulasa news,shivraj singh chouhan, narendra modi,amit shaah,MP BJP,MP Congress, kamalnath,digvijaya singh, विकास की कलम,जबलपुर न्यूज़,ताजा खबर,ब्रेकिंग न्यूज़ जबलपुर.जबलपुर क्राईम, जबलपुर पर्दाफाश,जबलपुर जॉब न्यूज़, ताज़ा ख़बर, शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश, राजनीति, बेरोजगारी, आम जनता। General News,Social News,Auto News,Tech News,Legal News,CrimeNews,National News,International News,Lifestyle News,Art News,Entertainment News,Sports News,Legal News,Business News International,Local,Social,Entertainment, Business,Crime, Astrology,Politics,Health Science,Environtment, Sport,Lifestyle,Technology

अपने रूटीन सर्च के दौरान जबलपुर आबकारी पुलिस ने घमापुर स्थित कुचमुंदीया मोहल्ले में कच्ची शराब बनाये जाने की शिकायत को लेकर दबिश दी वही सर्चिंग के दौरान जब कोरोना महामारी के चलते बंद पड़े शाश्कीय माध्यमिक स्कूल घमापुर की तलाशी ली गयी तो 

इस पूरे गौरखधंधे का खुलासा हुआ।


सूने भवन में शैतान का डेरा...



आप ने ये कहावत तो सुनी ही होगी कि सूनी जगहों में अक्सर शैतान अपना डेरा जमा लेता है। कलियुग में शराब माफियाओं ने यह कहावत चरितार्थ कर दिखाई है। गौरतलब हो कि पिछले कुछ माहों से कोरोना महामारी के चलते देश भर के शिक्षण संस्थान बन्द है। 

Vikas ki kalam,jabalpur news,top news,breaking news,taza khabar,mp news,jabalpur hulchal, crime news,mp politics,jabalpur kisaan,  jabalpur education news, implement news,khulasa news,shivraj singh chouhan, narendra modi,amit shaah,MP BJP,MP Congress, kamalnath,digvijaya singh, विकास की कलम,जबलपुर न्यूज़,ताजा खबर,ब्रेकिंग न्यूज़ जबलपुर.जबलपुर क्राईम, जबलपुर पर्दाफाश,जबलपुर जॉब न्यूज़, ताज़ा ख़बर, शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश, राजनीति, बेरोजगारी, आम जनता। General News,Social News,Auto News,Tech News,Legal News,CrimeNews,National News,International News,Lifestyle News,Art News,Entertainment News,Sports News,Legal News,Business News International,Local,Social,Entertainment, Business,Crime, Astrology,Politics,Health Science,Environtment, Sport,Lifestyle,Technology


इसी आपदा को अवसर में बदलते हुए  शराब बनाने वाले तस्करों द्वारा बंद स्कूल को अवैध शराब का कारखाना बना दिया गया। इस स्कूल में लगभग 5000 हजार लीटर महुआ लाहन ड्रामों में रखा गया था। जो मूलतः कच्ची शराब बनाने में प्रयुक्त होता है।


मुखबिर की सूचना पर कार्यवाही..


आबकारी थानाप्रभारी घंसुलाल मरावी ने बताया की उन्हें विश्वनीय मुखबिर से सूचना मिली थी, कि पूर्व की तरह ही कुचमुंदीया मोहल्ले में अवैध कच्ची शराब बनाई जा रही है।वही सूचना पर त्वरित कार्यवाही करते हुए दबिश दी गयी और घरों की तलासी ली गयी तो, वहा ज्यादा कुछ नही पाया गया । लेकिन शंका होने पर जब पास में ही कोरोना के कारण बंद पड़े स्कूल की तलाशी ली गयी तो वहाँ भारी मात्रा में महुआ लाहन ड्रमों में भरा पाया गया।जिसे नष्ट करते हुए अज्ञात आरोपियों के ऊपर मामला दर्ज करते हुए पतासाजी की जा रही है।


आखिर पुलिस कब पहुंचेगी..

शराब माफियाओं के गिरेबान तक..


सूत्रों की माने तो बिना किसी बड़े खिलाड़ी के इतना बड़ा खेल हो ही नहीं सकता। लेकिन अक्सर पुलिसिया कार्यवाही में ही ऐसा क्यों होता है कि मुख्य सरगना मौके से फरार हो जाता है।बीते दिनों हुई आबकारी की दर्जन भर से अधिक कार्यवाहियों में सिर्फ लाहन नष्टीकरण या जब्ती की ही कार्यवाही नज़र आई है। लेकिन किसी भी बड़े शराब माफिया के गिरेबान तक पहुंचने में पुलिस नाकाम रही है। अब तो आलम ये आ चुका है कि दबे शब्दों में लोग आबकारी पुलिस की इन कार्यवाहियों को भी फिक्सिंग का खेल कहने से नहीं चूकते। सूत्र बताते है कि बीते सालों में आबकारी पुलिस जितनी एक्टिव नहीं रही... वो अचानक ही शराब का नया टेंडर होने के बाद एक्टिव हो गयी है। आबकारी पुलिस को चाहिए कि अपने मुखबिर तंत्र को एक्टिव कर मुख्य सरगना तक पहुंचने का प्रयास करें। अन्यथा उनकी कार्यवाहियां महज ओपचारिकता ही समझी जाएगी।


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम

चीफ एडिटर

विकास सोनी

लेखक विचारक पत्रकार

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार