दो दिन की बच्ची की स्क्रू-ड्राइवर से हत्या.. हैवानों ने मारे 100 से ज्यादा घाव... - Vikas ki kalam,जबलपुर न्यूज़,Taza Khabaryen,Breaking,news,hindi news,daily news,Latest Jabalpur News

Breaking

दो दिन की बच्ची की स्क्रू-ड्राइवर से हत्या.. हैवानों ने मारे 100 से ज्यादा घाव...

दो दिन की बच्ची की

स्क्रू-ड्राइवर से हत्या..


हैवानों ने मारे

100 से ज्यादा घाव...



कहते है कि जानवर भी नवजात पर हमला नहीं करता। लेकिन इंसान की हरकतों ने आजकल जानवरों तक को पीछे छोड़ दिया है। आये दिन हो रही घटनाओं ने सभ्य समाज के अंदर छुपकर बैठे हुए इंसानी भेड़ियों की कलई खोल कर रख दी है। आज का इंसान इतना हैवान हो चुका है कि उसकी करतूतों को देखकर किसी की भी रूह कांप जाए। ऐसा ही एक मामला सामने आया है। जहां एक 2 दिन की बच्ची पर किसी हैवान ने स्क्रू-ड्राइवर से एक के बाद एक 100 घाव मरते हुए नवजात के शरीर को छलनी कर दिया। उसके बाद खून से लथपथ बच्ची के मृत शरीर को सड़क में फेंक दिया।


कहाँ का है मामला..क्या है वारदात..??


हैवानियत से भरा ये खूनी खेल मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में खेला गया। जहां अयोध्या नगर में 24 सितंबर की सुबह खून से लतफथ एक बच्ची का अज्ञात शव मिला। देखने मे बच्ची एक या दो दिन की प्रतीत हो रही थी। बच्ची का शव दिखते ही तमाशबीनों की भीड जमा होने लगी। इसी बीच सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा कर उसे पोस्टमार्टम के लिये भेजते हुए , अग्रिम जांच शुरू की।पुलिस ने इस प्रकरण में हत्या का मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। सुराग के लिए पुलिस आसपास के इलाकों के सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है।


पोस्टमार्टम रिपोर्ट से हुआ हैवानियत का खुलासा...


इस पूरी वारदात को लेकर प्रारंभिक जांच में पुलिस को लगा कि कोई बच्ची को मंदिर के पास फेंककर चला गया और जानवरों ने उसकी ये हालत कर दी।लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस के भी रोंगटे खड़े हो गए। दरअसल पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बच्ची के साथ हुई हैवानियत का खुलासा हुआ है। रिपोर्ट के अनुसार बच्ची की उम्र महज 2 दिन की है और उसके शरीर पर 100 से अधिक घाव है। जो किसी जानवर के दांतों के नहिं बल्कि स्क्रू-ड्राइवर के जरिये बनाये गए है। बच्ची की शिनाख्त अब तक नहीं हो पाई है। 


जांच में जुटी पुलिस..खंगाले जा रहे सुराग...


अयोध्या नगर इलाके में हुई इस घटना में के बारे में थाना प्रभारी रेणु मुराब ने बताया कि उन्हें 24 सितंबर के सुबह बच्ची की लाश मिलने के बारे में पता चला था। पुलिसकर्मी जब वहां पहुंची तो बच्ची की हालत देखकर उनकी भी रूह कांप गई। नवजात के शरीर में 100 से ज्यादा छेद थे जो स्क्रू ड्राइवर की मदद से किए गए थे। जिसकी पुष्टि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से भी हुई है। आसपास के लोगों से पूछताछ कर साथ ही सीसी टीवी कैमरों की मदद से आरोपियों तक पहुंचने का प्रयास किया जा रहा है।


एक माह के अंदर तीसरी वारदात..


गौरतलब हो कि प्रदेश की राजधानी में नवजात बच्चियों की हत्या का यह तीसरा मामला सामने आया है। जहां इस बार आरोपियों ने 2 दिन पहले पैदा हुई बच्ची के शरीर में स्क्रू ड्राइवर की मदद से 100 से ज्यादा वार किए गए। फिर उसे शॉल में लपेटकर मंदिर के किनारे फेंक दिया। खास बात यह है कि पुलिस अब तक इन हतियारों के गिरेबान तक नहीं पहुंच पाई है। इस तरह के अपराध को अंजाम देने वाला आरोपी निश्चित ही हैवानियत भरी मानसिकता से ग्रसित होगा। जो कि समाज के लिए एक बड़ा खतरा साबित हो सकता है।


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम

चीफ एडिटर

विकास सोनी

लेखक विचारक पत्रकार






पेज