Breaking

गुरुवार, 10 सितंबर 2020

जायजाद बनी बैरन... भतीजों ने मिलकर किया.. चाचा का खून...

जायजाद बनी बैरन...
भतीजों ने मिलकर किया..
चाचा का खून...
Crime news jabalpur,breaking news jabalpur,vikas ki kalam
Parivarik vivad

जमीन के टुकड़े के लिए संघर्ष अनादि काल से चल आ रहा है। अपना स्वामित्व स्थापित करने अक्सर लोग हद से भी आगे चले जाते है। ये विवाद अक्सर अपनी भूमि पर कब्जा या फिर दूसरे की भूमि को जबरन कब्जाने की कवायद में होते है। शुरुवाती तौर पर कागजों का सहारा लिया जाता है लेकिन जब बात नहीं बनती तो कागज के टुकड़ों की जगह धारदार हथियारों का इस्तेमाल होता है। जो अपराध की एक नई दास्तान लिख जाता है।

जमीन बनी बैरन...
जमीनी विवाद में चाचा की हत्या,जबलपुर न्यूज़,क्राईम न्यूज़Vikas ki kalam,jabalpur news,top news,breaking news,taza khabar,mp news,jabalpur hulchal, crime news,mp politics,jabalpur kisaan,  jabalpur education news, implement news,khulasa news,shivraj singh chouhan, narendra modi,amit shaah. विकास की कलम,जबलपुर न्यूज़,ताजा खबर,ब्रेकिंग न्यूज़ जबलपुर.जबलपुर क्राईम, जबलपुर पर्दाफाश,जबलपुर जॉब न्यूज़, ताज़ा ख़बर, शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश, राजनीति, बेरोजगारी, आम जनता।

जमीन के एक टुकड़े के लिए खून के रिश्तों के बीच कुछ ऐसा टकराव हुआ कि बचपन मे जिसकी गोद में खेले उसी को मौत के घाट उतार दिया। खास बात यह है कि विवाद बाहरी नहीं बल्कि एक ही छत के नीचे रह रहे चाचा-और भतीजों के बीच जमीन के एक टुकड़े को लेकर हुआ। जमीनी हक को लेकर बात इतनी बढ़ गयी कि भतीजे अपना आपा खो बैठे और बुजुर्ग चाचा को कुल्हाड़ी और हँसियों के वार से मौत की दहलीज पर सुला दिया।

कहाँ का है पूरा मामला...
Vikas ki kalam,jabalpur news,top news,breaking news,taza khabar,mp news,jabalpur hulchal, crime news,mp politics,jabalpur kisaan,  jabalpur education news, implement news,khulasa news,shivraj singh chouhan, narendra modi,amit shaah. विकास की कलम,जबलपुर न्यूज़,ताजा खबर,ब्रेकिंग न्यूज़ जबलपुर.जबलपुर क्राईम, जबलपुर पर्दाफाश,जबलपुर जॉब न्यूज़, ताज़ा ख़बर, शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश, राजनीति, बेरोजगारी, आम जनता।

खून के रिश्तों में खूनी संघर्ष की यह कहानी जबलपुर जिले के बेलखेड़ा थाना क्षेत्र के माला गांव की है। जहां जमीन के एक टुकड़े को लेकर परिवार के लोग आपस मे ही भिड़ गए।
 जमीन के आपसी विवाद में भतीजो ने चाचा को कुल्हाड़ी  से हमला बोल दिया। इस खूनी संघर्ष में मृतक के बड़े भाई गुलाब लड़िया के चार बेटो सनी, जगत रामजी ओर हल्कू ने मिलकर साथ मिलकर 46 वर्षीय अपने ही चाचा छोटेलाल लड़िया की हत्या कर दी। गंभीर रूप से घायल हुए छोटेलाल को पाटन अस्पताल रैफर किया गया था जहाँ रास्ते में  दम तोड़ दिया।

जमीन की नपाई में उपजा विवाद

यह घटना जमीन की नपाई के दौरान हुई और जमीन मालिक के  समधी व पुत्र पर उसके ही सगे भाई भतीजों ने हमला कर दिया था।बताया जा रहा है कि मालागाँव निवासी छोटे लाल लड़िया की घर के सामने ही दो एकड़ जमीन है। उस जमीन को लेकर उसका अपने भाई गुलाब सिंह लड़िया से विवाद चल रहा था। विवाद को सुलझाने के लिए छोटे लाल द्वारा निजी तौर पर जमीन की नपाई कराने के लिए एक टीम को बुलाया गया था। दोपहर 2 बजे के करीब जमीन की नपाई हो रही थी। इसी दौरान गुलाब लड़िया के पुत्र जगत व चन्नू एवं उनके पुत्र रामजी व हल्कू लड़िया वहाँ पहुँचे और विवाद करते
हुए कुल्हाड़ी, हँसिया व तलवार से हमला कर छोटे लाल के पुत्र प्रकाश व के समधी उजियार सिंह को गंभीर रूप से घायल कर दिया। दोनों घायलों को में पाटन अस्पताल ले जाया गया जहाँ उजियार सिंह (छोटे लाल)उम्र 42 वर्ष की मौत हो गयी।

थाने में दर्ज हुआ हत्या का मुकदमा

इस पूरी घटना पर प्रकाश डालते हुए बेलखेड़ा थाना प्रभारी लष्मीकांत तिवारी ने बताया कि मृतक छोटेलाल लड़िया अपनी पैतृक जमीन को लेकर हुए विवाद के चलते उसके बड़े भाई के बेटों ने अपने चाचा पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया था। आनन-फानन में गंभीर रूप से घायल चाचा को पाटन उप स्वास्थ्य केंद्र रैफर किया गया था। लेकिन छोटेलाल लड़िया ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। बहरहाल  चारों आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है वही आप आरोपियों की तलाश शुरू कर दी गई है।

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..

ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।

विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार