एक महिला का टेरर ऐसा... की पुलिसवाले ने खा लिया ज़हर.. जानिए क्या है मांजरा..?? - VIKAS KI KALAM,Breaking news jabalpur,news updates,hindi news,daily news,विकास,कलम,ख़बर,समाचार,blog

Breaking

एक महिला का टेरर ऐसा... की पुलिसवाले ने खा लिया ज़हर.. जानिए क्या है मांजरा..??

एक महिला का टेरर ऐसा...
की पुलिसवाले ने खा लिया ज़हर..
जानिए क्या है मांजरा..??

वैसे तो पुलिस वालों के चक्कर मे आम आदमी के ज़हर पी लेने की कहबर तो आपने कई बार पढ़ी या सुनी होगी। लेकिन आज हम आपको एक ऐसी कहानी बताएंगे ...जो नहले पे देहला हो गयी है। यहां एक आम महिला की धमकियों से तंग आकर पुलिस वाले ने जहर खा लिया। आखिर ऐसी क्या बात थी जो पुलिसवाले ने मजबूर होकर आत्महत्या का फैसला किया।

कहाँ का है मामला..??
क्या है पूरी घटना...???

ये अनोखी कहानी मध्यप्रदेश के उज्जैन जिले के नागझिरी थाना क्षेत्र की है। जहां
उज्जैन नागझिरी थाने में पदस्थ आरक्षक सुनील चौधरी ने एक महिला की धमकियों से परेशान होकर जहर खा लिया. धमकी देने वाली महिला का नाम चंद्रलता सिसोदिया बताया जा रहा है. महिला पुलिस आरक्षक को लगातार कई आरोपों में फंसाने की धमकी दे रही थी.
 इसके साथ ही वो पैसों की भी मांग कर रही थी. इन सब से तंग आकर आखिर में सुनील चौधरी ने जहर खा लिया. फिलहाल उनका इलाज एक निजी हॉस्पीटल में चल रहा हैं.

शातिर महिला FIR के बाद बौखलाई..

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार 2 दिन पूर्व ही इस महिला के खिलाफ ब्लैक मेलिंग किये जाने पर एफआईआर दर्ज की गई थी। जिससे नाराज होकर आरोपी महिला सुनील चौधरी के घर पहुंच गयी। और उसके घर में जाकर परिवारों के साथ झगड़ा कर कई झूठे आरोपों में फंसाने की धमकी देने लगी. इन सभी बातों से आरक्षक सुनील चौधरी मानसिक रूप से इतना आहत हुआ कि उसने जहर खाकर आत्महत्या करने की कोशिश।

आरक्षक की हालत अस्थिर..

घटना के बाद से ही आरक्षक को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां उसकी स्थिति ठीक नहीं है।आरक्षक सुनील चौधरी बयान देने की स्थिति में नहीं है। जब होश में आएंगे तब ही पूरा मामला साफ होगा।बहरहाल  पुलिस जांच में जुटी हुई हैं और महिला धमकी क्यों दे रही थी इसका कारण भी पता लगा रही हैं।

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..

ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।

विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार