Breaking

गुरुवार, 20 अगस्त 2020

चाइनीज नूडल्स के डिब्बों में दारू शराब माफियाओं के एकतरफा जुगाड़

चाइनीज नूडल्स के डिब्बों में दारू
शराब माफियाओं के एकतरफा जुगाड़

अवैध शराब की तस्करी के लिए शराब माफिया रोजाना नई-नई जुगत भिड़ा रहे हैं। वे कभी भूसे की ट्रॉली में शराब रखकर लाते हैं तो कभी ट्रक में एक्स्ट्रा चेंबर बनाकर। लेकिन इस बार तो शराब माफियाओं ने एक नया ही जुगाड़ अपनाया है। जहां पर चाइनीस नूडल से भरे कार्टूनों के बीच में शराब की बोतले रखकर तस्करी को अंजाम दिया जा रहा था । लेकिन इन शराब तस्करों के मंसूबे कामयाब ना हो सके... और आबकारी विभाग की सक्रियता के चलते अवैध शराब की एक बड़ी खेप बिकने से पहले ही पकड़ी गई।

क्या है पूरा मामला...
कहाँ की है घटना..??

मामला जबलपुर जिले का है। जहाँ आबकारी विभाग की टीम ने एक लोडिंग ऑटो को पकड़ा है। जिसमें तलाशी के दौरान नूडल्स के कार्टून लदे हुए थे । लेकिन जब गहन तलाशी ली गयी तो आपकारी विभाग खुद चौक गया । दरअसल दिखावे के लिए ऑटो में लदे कार्टूनों में नूडल्स भरे हुए थे। लेकिन उन नूडल्स के नीचे नामी गिरामी कंपनियों की महंगी शराब छुपी हुई थी।

मुखबिर की टिप ने खोला राज...

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार
आबकारी कन्ट्रोल रूम प्रभारी जी. एल. मरावी  के नेतृत्व में यह पूरी कार्यवाही की गई है। बताया जा रहा है कि विश्वसनीय मुखबिर से सूचना प्राप्त होने पर आनन फानन में विशेष टीम जबलपुर के भेड़ाघाट बाईपास पर तेवर गाँव मे घाट लगाकर बैठी थी। तभी एक लोडर आटो जिसका रजिस्ट्रेशन न.M P 20 LA 4859 है । उक्त वाहन को रोका गया । वाहन चालक से पूछताछ करने पर चालक ने अपना नाम रामनाथ गौंड पिता हल्कु प्रसाद गौंड निवासी विजय नगर बताया । वाहन की तलाशी लेने पर वाहन में नूडल्स के बक्से एवम बोरियां लदी हुई थी । गहन तलाशी में उन बक्सों के अंदर अवैध शराब पाई गई।

कार्यवाही में कितनी शराब हुई बरामद

 नूडल्स के बक्से खोल कर देखने पर तीन बाक्सों मै क्रमशः 12 बोतल ब्लेंडर प्राइड, 36 बोतल रायल चेलेंज, 24 बोतल रायाल स्टेज, 12 बोतल , इंपीरियल ब्लू ,एवम 50 पाव गोवा विहस्की कुल 84 बोतल एवम 50 पाव विदेशी मदिरा बरामद की गई । जिसकी बल्क लीटर में गणना करने पर  72 बल्क लीटर विदेशी मदिरा बरामद की गई,।

पकड़े गए आरोपी को हुई जेल..

पूछ-ताछ में आरोपी ने उक्त मदिरा की कोई पास या परमिट प्रस्तुत नहीं किया । अतः आरोपी रामनाथ गौड़ को म. प्र. आबकारी अधिनियम की धारा 34(1) क एवम् 34 (2) के तहत गिरफतार किया गया । आरोपी को न्यायलय के समक्ष पेश किया गया तथा न्यायलय के आदेश पर 14 दिनों की न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया

कहाँ गयी बड़ी मछली..??

जानकारों की माने तो ये तो सिर्फ ट्रेलर है। असली पिक्चर तो अभी बाकी है। विकास की कलम समय समय पर इस मुद्दे को उठाती आ रही है...की शहर में अवैध शराब का कारोबार जोरों पर है। बीते दिनों हुई कार्यवाहियों से एक बात तो साफ है। कि जिले के बाहर से शहर में अवैध शराब की बड़ी खेप पहुंच रही है। लेकिन अभी तक सिर्फ छोटी मोटी मछलियों तक ही विभाग पहुंच पाया है। उम्मीद जताई जा रही है कि विभाग जल्द ही इस पूरे रैकेट का भंडाफोड़ कर, अवैध तस्करी में लगाम लगाएगा।

इनकी रही महत्वपूर्ण भूमिका...

*कार्रवाई के दौरान इनकी रही  महत्वपूर्ण भूमिका , सहायक जिलाआबकारी अधिकारी जी डी लहौरिया,  कु. भारती गौंड मुख्य आरक्षक नरेंद्र उइके , रमेश कुशराम, आरक्षक राकेश जादौन , अनुराग शर्मा, दीपचंद राय ।

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..

ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।

विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार

$सबसे सस्ते दामों में स्मार्ट टीवी की है तलाश तो यहां क्लिक करें$

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार