Breaking

गुरुवार, 20 अगस्त 2020

मामा ने निभाया फर्ज 57 लाख भांजे-भांजियों के खाते में 137 करोड़ रुपये ट्रांसफर

मामा ने निभाया फर्ज
57 लाख भांजे-भांजियों के खाते में
137 करोड़ रुपये ट्रांसफर

भोपाल। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को प्रदेश की जनता प्यार से मामा जी संबोधित करती है। और मामा भी अपने इस दायित्व को बखूबी निभा रहे है। प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान
ने कहा कि कोरोना काल में स्कूल बंद हैं तथा आगे कब खुलेंगे यह अभी बताया नहीं जा सकता। सरकार द्वारा बच्चों की पढ़ाई की ऑनलाइन तथा रेडियो कार्यक्रमों आदि के माध्यम से व्यवस्था की गई है। इसके साथ ही कक्षा 1 से 8 तक के बच्चों के मध्यान्ह भोजन के लिए उनके घर पर ही खाद्यान्न पहुंचाया जा रहा है तथा खाद्य सुरक्षा भत्ते की राशि भी उनके खातों में भिजवाई जा रही है। बच्चे खूब पढ़े, आगे बढ़े, खुश रहें।

अपने भांजे भांजियों को खाते में पहुचाये 137 करोड़

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज प्रदेश के 1 से 8 कक्षा के विद्यार्थियों एवं मध्यान्ह भोजन के रसोईयों को वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कक्षा 01 से 8वीं तक के 56 लाख 80 हजार बच्चों को खाद्य सुरक्षा भत्ते की 137 करोड़ 66 लाख की राशि तथा मध्यान्ह भोजन के 2 लाख 10 हजार रसोईयों को 42 करोड़ रूपये की राशि उनके बैंक खातों में अंतरित की। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास श्री मनोज श्रीवास्तव, राज्य समन्वयक श्री दिलीप कुमार आदि उपस्थित थे।

मामा बोले:-
एकलव्य की तरह एकाग्रता के साथ अध्ययन करो

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बच्चों को एकलव्य भील बालक की कहानी सुनाते हुए कहा कि एकलव्य पढ़ाई करने गुरूकुल नहीं जा सका तो उसने अपने गुरू की मिट्टी की मूर्ति बनाकर धनुष विद्या का अभ्यास किया और श्रेष्ठ धनुर्धर बन गया। इसी प्रकार आप भी स्कूल नहीं जा पा रहे हैं तो क्या हुआ, घर पर बैठकर ही एकाग्रता से अध्ययन करो, आपको आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता। पाठ्य सामग्री आपके पास ऑनलाइन पहुंचाई जा रही है। साथ ही मोबाइल पर शिक्षकगण आपके प्रश्नों के उत्तर भी देंगे।

90 लाख छात्रों को पाठ्य पुस्तक एवं वर्क बुक का वितरण

सीएम शिवराज सिंह ने बताया कि शिक्षकों द्वारा घर-घर जाकर शासकीय शालाओं में अध्यनरत लगभग 90 लाख छात्रों को पाठ्य पुस्तक एवं वर्क बुक का वितरण किया जा रहा है। अब-तक 90-95 प्रतिशत छात्रों को पाठ्य पुस्तक का वितरण किया जा चुका है।

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..

ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।

विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार

$सबसे सस्ते दामों में स्मार्ट टीवी की है तलाश तो यहां क्लिक करें$


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार