Breaking

गुरुवार, 20 अगस्त 2020

जानिए क्या हुआ जब.. दोस्त के बटुए में दिखी... खुद की बीबी की फोटो.. खूनी खेल की दिलचस्प कहानी..

जानिए क्या हुआ जब..
दोस्त के बटुए में दिखी...
खुद की बीबी की फोटो..
खूनी खेल की दिलचस्प कहानी..

दोस्ती एक नायाब रिश्ता होता है। जिसमे
अगर विश्वास बन जाये तो लोग एक दूसरे के लिए जान भी दे देते है। लेकिन क्या हो जब इस विश्वास में विष घुल जाए...
आज हम अपने पाठकों के लिए एक ऐसी सच्ची कहानी लेकर आये है। जिसमे दो दोस्तों की दोस्ती विश्वासघात की पटरी पर दौड़ते हुए खूनी खेल में तब्दील हो गयी। और फिर कुछ ऐसा हुआ जो आपके रौंगटे खड़े कर देगा।

क्या है कहानी...???
कहाँ की है घटना..???

आज हम जो घटना आपको बताने जा रहे है। उसकी पटकथा विदिशा जिले के नटेरन थाना क्षेत्र में लिखी गई। दरअसल कहानी की शुरुआत एक पुलिया के नीचे पड़ी मिली लाश से शुरू हुई।प्रारम्भिक टूर पर यह एक आत्महत्या लग रही थी।लेकिन अब इसकी गुत्थी सुलझ गई है। युवक की हत्या की गई थी। पुलिस का दावा है कि उसकी हत्या उसी के दोस्त ने की है। हत्या इसलिए की क्योंकि हत्या के आरोपी युवक की पत्नी का फोटो मृत युवक के वॉलेट में था।

मामूली पूछताछ में ही आरोपी ने कबूल लिया जुर्म

एसडीओपी भारतभूषण शर्मा और नटेरन थाना प्रभारी नितिन पटले ने बताया कि ग्राम फूफेर निवासी रामबाबू का शव ग्राम बमूरिया के पास पुलिया के नीचे मिला था। इस मामले में मृतक के दोस्त रामेश्वर बैरागी उर्फ गुड्डा पिता गंगादास (35) से शक के आधार पर पूछताछ की गई तो उसने हत्या करना स्वीकार कर लिया।

दोस्त के साथ पैसे के लेनदेन पर चल रही थी अनबन

आरोपित रामेश्वर ने पुलिस को बताया कि रामबाबू उसका मित्र था और और उसकी जमीन का बंटाईदार भी। उससे मुझे 80 हजार रुपये लेना था, जिसमें से वह 50 हजार रुपये दे चुका था, लेकिन बाकी 30 हजार रुपये लेना था। आरोपित ने बताया कि पहले उसने अपनी पत्नी को मायके छोड़ दिया था। इसके बाद रामबाबू को घर पर बुलाया।

लेनदेन की बहस के दौरान बटुए में दिखी बीबी की तस्वीर..

पैसे को लेकर उससे बहस हुई। इस दौरान उसके पर्स में पत्नी का फोटो देख लिया तो वह क्रोधित हो उठा और पत्थर से उसकी हत्या कर शव पुलिया के नीचे फेंक दिया। पुलिस ने आरोपित रामेश्वर को न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..

ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।

विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार

$ जासूसी कैमरे और नए गेजेट्स के जरिये रखें ...सब पर नज़र..$


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार