ये कैसी आशिकी..?? आशिक की चाहत बनी.. पति की मौत का कारण.. - VIKAS KI KALAM,Breaking news jabalpur,news updates,hindi news,daily news,विकास,कलम,ख़बर,समाचार,blog

Breaking

ये कैसी आशिकी..?? आशिक की चाहत बनी.. पति की मौत का कारण..

ये कैसी आशिकी..??
आशिक की चाहत बनी..
पति की मौत का कारण..

प्यार में खून खराबा की खबरें आम हो चली है। खास तौर पर ये हालात प्रेम त्रिकोण में फसने पर ही बनते है। जहां एक ओर प्यार होता है तो दूसरी ओर परिवार। लेकिन जब प्यार का जादू सर चढ़कर बोलता है,तो रिश्तों की अहमियत धरी की धरी रह जाती है। इस अवस्था मे प्यार को पाने की चाहत इतनी बेकाबू हो जाती है कि वो रास्ते मे आने वाले हर रिश्ते को खत्म करने में उतारू हो जाती है। और यहीं से शुरू होती है अपराध की दास्तान.....
आज हम आपको ऐसे ही अपराध की कहानी बताएंगे जिसमे प्रेम त्रिकोण के चलते एक पत्नी ने अपने आशिक के साथ मिलकर अपने ही पति को मौत के घाट उतार दिया।

कहाँ का है...किस्सा..कैसे हुई वारदात..

अपराध की यह कहानी मध्यप्रदेश के जबलपुर जिले के मझौली तहसील की है। जिसकी शुरुवात आज से एक वर्ष पहले हुई थी। जिसमे एक पत्नी ने अपने आशिक के साथ मिलकर अपने पति की हत्या की और फिर शव को ठिकाने भी लगा दिया। इस पूरे प्रकरण को बाकायदा एक साल बीत भी गया। लेकिन अचानक मिले एक कंकाल ने पूरी साजिश का पर्दाफाश कर दिया

गुमशुदगी की रिपोर्ट बनी आड़

 बीते साल दिसम्बर 2019 में मझोली थाने में एक युवक के गुम होने की सूचना उसके परिजनों ने थाने मे की थी। पुलिस लगातार लापता युवक की तलाश कर रही थी। गुम होने के चार महीने बाद मझोली में कार नदी के पास एक युवक की क्षत विक्षत लाश मिली थी। पूछताछ में पता चला कि ये लाश मृतक रामकरण प्रधान की है।जिसकी शिनाख्त कपड़ों के आधार पर की गई।पुलिस ने हत्या का प्रकरण दर्ज कर जब जांच शुरू की तो एक के बाद एक सारी परतें खुलना शुरू हो गयी।

आशिक देवर और भाभी के अनैतिक संबंध बने हत्या का कारण...

पुलिस जांच में पता चला कि मृतक की पत्नी अर्चना का अपने देवर से अवैध संबंध था। खास बात यह है कि मृतक ने दोनों को आपत्तिजनक स्तिथि में देख लिया था। उस घटना के बाद से ही आये दिन पति पत्नी में विवाद होता था। मृतक की पत्नी ने अपने आशिक को ये बाते बताई थी और दोनों ने मृतक को रास्ते से हटाने की योजना बनाई थी।

सोचे समझे प्लान के तहत की हत्या..

17 दिसम्बर 2019 को मृतक रामकरण को आरोपी कपिल बहला फुसला कर  कार नदी के पास ले गया। नदी के पास पहले से मौजूद मृतक की पत्नी अर्चना ने उसके सर पर लोहे की रॉड से वार कर दिया कुछ देर बाद रामचरण की मौत हो गई। आरोपी अर्चना और कपिल ने मृतक की लाश को झाड़ियो में छुपा दिया था। घर आकर मृतक की पत्नी ने थाने में पति की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। बहरहाल पुलिस ने इस अंधी हत्या के आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..

ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।

विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार