Breaking

शुक्रवार, 24 जुलाई 2020

जानिए कैसे..?? सेल्फ़ी का जुनून.. ले आया..मौत के करीब...

जानिए कैसे..??
सेल्फ़ी का जुनून..
ले आया..मौत के करीब...
Taza khabar,fast news,news update

आज स्मार्टफोन का जमाना है। जहां पालक झपकते ही हसीन पलों को कैद कर सोशल मीडिया में न डाल पाये तो क्या किया....
और इसी होड़ ने एक नया ट्रेंड जारी किया है जिसे लोग सेल्फ़ी कहते है।यह खास तौर से युवाओ में खाफी प्रचलित है।सेल्फ़ी का जुनून लोगों पर इस कदर हावी है कि वे अक्सर अपनी सुधबुध तक खो बैठते है। जिसका नतीजा काफी हानिकारक भी हो सकता है।वैसे तो सेल्फ़ी लेते वक़्त के दुर्घटनायें हो चुकी है।
 लेकिन इस बार सेल्फ़ी (Selfie) का प्यार 2 लड़कियों के लिए जान की आफत बन गया। परफेक्ट सेल्फी लेने की कोशिश में दोनों लड़कियां पेंच नदी के बीच में पत्थर पर जाकर बैठ गईं। इसी बीच अचानक नदी का जलस्तर बढ़ गया एवं बहाव तेज हो गया और दोनों नदी में ही फंस गई।

कहाँ की है घटना-क्या है मामला

घटना मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा जिले के अंतर्गत आने वाले जुन्नारदेव तहसील के बेलखेड़ी गांव की है। जहां पेंच नदी के बहाव वाले इलाके में 8 लड़कियों का समूह पिकनिक मनाने के लिए पहुंचा था। जुन्नारदेव डूंगरिया की वार्ड नंबर 3 में रहने वाली मेघा जवारेकर व वार्ड नंबर 2 की वंदना त्रिपाठी नदी में फंसी थीं। उनको इस हालत में देख उनके साथ गई युवतियों ने पुलिस व प्रशासन को सूचना दी। इसके बाद रेस्क्यू ऑपरेशन कर उन्हें नदी से बाहर निकाला गया।

पाबंदी के बाद भी कैसे पहुंचते है लोग..??

सेल्फी के चक्कर में जान को दांव पर लगाने की यह पहली घटना नहीं है, लेकिन आश्चर्य है कि कोविड 19 के संक्रमण के चलते सामूहिक पिकनिक पर पाबंदी के बाद भी लोग अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। वैसे भी, बारिश के मौसम में नदियों के जलस्तर में उतार-चढ़ाव सामान्य घटना है। इसके बावजूद लड़कियां नदी के बीच पहुंच गईं, क्योंकि प्रशासन ने ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए कोई इंतजाम नहीं किए हैं।

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..

ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।

विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार




कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार