कहीं की रेत-कहीं की रॉयल्टी ये जबलपुर है..जनाब... यहां सब चलता है... - VIKAS KI KALAM,Breaking news jabalpur,news updates,hindi news,daily news,विकास,कलम,ख़बर,समाचार,blog

Breaking

कहीं की रेत-कहीं की रॉयल्टी ये जबलपुर है..जनाब... यहां सब चलता है...

कहीं की रेत-कहीं की रॉयल्टी
ये जबलपुर है..जनाब...
यहां सब चलता है...

गजेंद्र सिंह (शहपुरा/भिटौनी)
जबलपुर जिले में रेत ठेका होने के बाबजूद शहपुरा व्लाक की खदान की रॉयल्टी जारी होने के बाद भी शहपुरा व्लाक के डम्फर और हाइवा मालिक परेशान हो रहे है ।उनका कहना है की ठेका जबलपुर जिले का ओर रेत नरसिंहपुर जिले से आ रही है।
यहां की खदान और गाड़ियाँ चल ही नही पा रही है।ऊपर से अगर कोई यहां से चलाना भी चाहे तो ठेकेदार ग़ोटेगाव क्षेत्र से रॉयल्टी देता है ।

हर क्षेत्र का फिक्स है रेट....

ग़ोटेगाव से रेत भरकर लाये तो 12 हजार ओर जबलपुर जिले से रेत भरी तो 15 हजार रॉयल्टी चुकानी पड़ती है । मोटर मालिको ने बताया कि इसमें भी ठेकेदार की मनमानी है 526 घनमीटर की रॉयल्टी 18 प्रतिशत जीएसटी उस हिसाब से करीब 12 घनमीटर (एक हाइवा) 8 हजार रुपये पूरा खर्च जोड़कर रॉयल्टी बनती है, पर ठेकेदार 15 हजार रुपये ओर रेत के दाम अलग से लेता है । वही ग़ोटेगाव नरसिंहपुर से रेत भर कर लाये तो 12 हजार रुपये लेते है। ये ठेकेदार की अचल मनमानी है  ।

समय कम मिलने के चलते भागमभाग दौड़ते है हाइवा डम्फर...

ठेकेदार के हाइवा को 10 घण्टे का समय और शहपुरा क्षेत्र हाइवा चालको को पहले ढाई घण्टे ओर अब बढ़ाकर 5 घण्टे कर दिया जो सरासर बेईमानी है वाहन दुर्घटना बड रही है  । यहि कारण है कि आये दिन बाईपास में यमदूत बनकर बेलगाम दौड़ रहे डम्फर किसी न किसी को निशाना बना ही देते है।

ट्रक एसोसिएशन ने पूर्व विधायक को दिया ज्ञापन

शहपुरा क्षेत्र के ट्रक एसोसिएशन ने पूर्व विधायक प्रतिभा सिंह को ज्ञापन सौप कर ठेकेदार की मनमानी को रोकने की मांग की। वही पूर्व विधायक ने कलेक्टर से बात कर मामले को सज्ञान में लाने की बात बोली ओर साथ ही मनमानी नही रुकने पर आंदोलन की चेतावनी दी ।

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..

ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार