सोमवती अमावस्या पर... न होगा नर्मदा स्नान... न होगा पूजन-पाठ - VIKAS KI KALAM,Breaking news jabalpur,news updates,hindi news,daily news,विकास,कलम,ख़बर,समाचार,blog

Breaking

सोमवती अमावस्या पर... न होगा नर्मदा स्नान... न होगा पूजन-पाठ

सोमवती अमावस्या पर
न होगा नर्मदा स्नान
न होगा पूजन-पाठ







कोरोना संक्रमण के चलते सामूहिक अनुष्ठानों पर तो पहले से ही रोक थी और अब नर्मदा पूजन और स्नान पर भी रोक के आदेश आ चुके है।प्रशासन को डर है कि यदि घाटों में बड़ी संख्या में स्नान या पूजन के लिए एकत्रीकरण हुआ तो निश्चित ही कोरोना संक्रमण का दायरा बढ़ सकता है।

20 जुलाई को है सोमवती अमावस्या


सावन में आने वाली अमावस्या तिथि बेहद ही खास मानी गई है। जो इस बार 20 जुलाई को है। पूर्वजों की आत्मा की तृप्ति के लिए अमावस्या पर श्राद्ध की रस्मों को करना उपयुक्त बताया जाता है। साथ ही कालसर्प दोष पूजा के लिए भी अमावस्या की तिथि महत्वपूर्ण है। अमावस्या जब सोमवार के दिन पड़ती है तो उसे सोमवती अमावस्या (Somvati Amavasya) कहते हैं। सावन में आने के कारण इसे हरियाली अमावस्या (Hariyali Amavasya) के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन श्रद्धालु पवित्र नदियों में स्नान कर पूजन अर्चन करने बड़ी संख्या में घाटों पर पहुंचते है।


जिला प्रशासन ने जारी किए प्रतिबंधात्मक आदेश






जिला प्रशासन जबलपुर द्वारा कोरोना संक्रमण के बढ़ते केसों को देखते हुए सोमवार को पड़ने वाली सोमवती अमावस्या पर नर्मदा तटों/घाटों पर श्रद्धालुओ/आगंतुको की मारी भीड की आशंका को देखते हुए। विशेष प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किया है। जिसके तहत उक्त प्रतिबंधात्मक क्षेत्रों में निम्न गतिविधियां पूर्णत: वर्जित रहेगी..

कोई भी व्यक्ति/संस्था वर्णित नर्मदा तटीय क्षेत्रों। घाटों पर सामूहिक रूप से एकत्र नहीं होगे एवं नर्मदा जल स्नान पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा।

 कोई भी व्यक्ति/संस्था वर्णित नर्मदा तटीय क्षेत्रों/घाटो पर जल प्रवाह में पूजन कार्य नहीं करेगें एवं पूजन सामग्री को विसर्जित नहीं करेगें।

इन घाटों पर प्रभावी होंगे आदेश..

जिला जबलपुर अंतर्गत नर्मदा नदी के तटीय क्षेत्र ग्वारीघाट /जिलहरीघाट /खारीघाट /सिद्धघाट / उमाधाट / घुघरा/ शंकरघाट/ तिलवाराघाट /लम्हेटाघाट /भेडाघाट एवं समस्त घाटों में आगामी आदेश पर्यन्त तक प्रतिबंधात्मक आदेश प्रभावी होगा।



उक्त आदेश की अवहेलना किये जाने पर संबंधितों के विरुद्ध दण्डात्मक कार्यवाही प्रस्तावित की जाकर एफ.आई.आर(FIR) दर्ज की जावेगी।

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..

ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार