Breaking

बुधवार, 29 जुलाई 2020

कहीं एक्सपायरी डेट का सामान.. आप तो नहीं कर रहे इस्तेमाल.. लंबे समय से मुनाफाखोर काट रहे थे चांदी...

कहीं एक्सपायरी डेट का सामान..
आप तो नहीं कर रहे इस्तेमाल..
लंबे समय से मुनाफाखोर काट रहे थे चांदी...

घर के जरूरती समान खरीदते समय आम जन काफी जागरूक दिखाई देता है । उसकी कोशिश होती है कि वह अच्छे से अच्छा और ब्रांडेड समान खरीदे। जिससे मिलावट का खतरा कम हो और उसके परिवार पर उत्पाद का बुरा असर न पड़े।
वह बाकायदा इस बात की भी पुष्टि करता है कि समान में छापा गया दाम और उसकी एक्सपायरी डेट क्या है। लेकिन क्या हो जब आपको पता चले कि आपके घर जो ब्रांडेड समान पहुंचा है। उसकी एक्सपायरी डेट सालों पहले खत्म हो चुकी है.....
चौकिये मत...यह बिल्कुल सच है..
हो सकता है कि आपने अपनी मेहनत की कमाई के पैसे लगाकर जिन घरेलू उत्पादों को खरीदा है। उनकी एक्सपायरी 2 साल पहले ही खत्म हो चुकी हो। आज हम आपको कुछ ऐसे मुनाफाखोरों के विषय मे बताएंगे जो कि चंद रुपयों की लालच में लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ का खेल खेल रहे है।

क्या है मामला...कहाँ की है घटना...

यह पूरा मामला मध्यप्रदेश के जबलपुर जिले का है। जहां माढ़ोताल थाना अंतर्गत  एक ऐसे गिरोह का भंडाफोड़ हुआ है। जो  एक्सपायरी डेट के सामान पर डिजीटल मशीन से नई डेट डालकर बाजार में बेचकर लाभ कमाने का गोरखधंधा चलाया करता था। पुलिस ने दबिश देकर रंगे हाथ  04 आरोपियों को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है।

सुने मकान में गुपचुप चल रहा था कारोबार..

प्राप्त जानकारी के अनुसार पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि कसोधन नगर ग्रीन सिटी मे नामदेव के मकान मे कुछ लोग एक्सपायरी डेट के प्रोडक्ट मे अवैध रुप से डिजिटल मशीन से नई डेट डालकर बाजार मे सामान बेंचकर अवैध लाभ कमा रहे है।सूचना प्राप्त होने पर  थाना प्रभारी माढ़ोताल रीना पांडे शर्मा के साथ एसडीएम ऋषभ पांडे ने मौके पर दबिश दी। मुखबिर द्वारा बतायी गयी बिल्डिंग में अंदर से ताला लगा हुआ था, लेकिन अंदर काम करने की आहट आ रही थी, आवाज लगाकर दरवाजा खुलवाया गया।

अंदर का नज़ारा देख पुलिस भी हुई हैरान..

मौके पर पहुँची टीम जैसे ही बिल्डिंग में दाखिल हुई तो उसके भी होश फाख्ता हो गए। बिल्डिंग में चारों ओर करोड़ो रुपयों के नामी गिरामी कंपनियों के एक्सपायरी डेट के समान बिखरे पड़े थे। इन प्रोडक्टों में एक्सपायरी डेट की डिटाल साबुन पतांजलि कंपनी की साबुन हार्पिक बाथरुम क्लीनर, पेंटीन कंडीशनर शैम्पू, सनब्लाक क्रीम मल्टीपेन रिलीफ, हिट चूहा मार दवाई, हनी शहद आदि की भरमार थी। यहां मुख्यतः उन्ही नामी कंपनियों के उत्पादों का संग्रह किया गया था। जो रोजाना इस्तेमाल के लिए सबसे ज्यादा खरीदे जाते है।

200 दिहाड़ी में डेट बदलने का काम

 बिल्डिंग में दो लड़के मिले जिनका नाम पता पूछने पर आशु उर्फ बिट्टू एवं हिमांशु सोनी बताया गया। सख्ती से पूछताछ करने पर दौनों ने बताया  कि यह मकान किसी नामदेव का है जिसे अनिल खत्री निवासी नेपियर टाउन चैथा पुल ने दो साल से किराया पर ले रखा था।  अनिल खत्री बाहर से एक्सपायरी डेट का सामान लेकर आता है। अनिल खत्री के कहने पर एक्सपायरी डेट को थिनर से मिटाकर उसी मकान के अंदर कमरे मे लगी ड़िजिटल मशीन से नई डेट तथा रेट स्केन कर लिखने का काम किया जा रहा था। स्केनर के नीचे प्रोडक्ट को रखते है तो नई डेट तथा रेट लिख जाती है , अनिल खत्री प्रतिदिन के हिसाब से हम लोगो को 200 रुपये देता है। जांच में पता चला कि अनिल खत्री के घर जितेन्द्र वाधवानी निवासी कांचघर  अपना एक्सपायरी डेट का सामान लेकर आता है, जिसमें की अनिल खत्री के कहने पर नई डेट डालने का काम दोनो लड़के किया करते थे।

मौके से जब्त की गई सामग्री..

पुलिस महकमे ने उपरोक्त बिल्डिंग से
अत्याधिक मात्रा में डेटॉल हैंडवॉश, हार्पिक बाथरूम क्लीनर, शू-पॉलिस, पेंटीन शैम्पू, कंडीशनर, फेस क्रीम, साबुन, एवं अन्य सामान तथा  चार नग डिजिटल मशीन मे प्रयोग किया जाने वाला कलर , एक डोमिनो कंपनी की डेट बदलने बाली डिजिटल मशीन जिसका टेबल नुमा चलायमान प्लेट फार्म है एवं डेट प्रिंट करने के लिये स्केनर जैसी मशीन लगी हुई मिली। जिन्हें पंचनामा कार्यवाही कर पुलिस हिरासत में लिया गया है।

एक के बाद एक कई ठिकानों के खुल रहे राज...

माढ़ोताल पुलिस द्वारा गिरफ़्तार किए गए लोगो से हुई पूछताछ के बाद सामने आई जानकारी के आधार पर अलग अलग इलाको में पुलिस ने छापा मार कार्यवाई की। गोहलपुर सीएसपी अखिलेश गौर  और थाना प्रभारी आरके गौतम और स्टाफ  ने शांतिनगर इलाके में 4 अलग अलग गोदामो पर एक साथ दविश दी इन गोदामो में भी पुलिस को लाखों रुपये कीमत का एक्सपायरी डेट के डिटाल साबुन पतांजलि कंपनी की साबुन हार्पिक बाथरुम क्लीनर, पेंटीन कंडीशनर शैम्पू, सनब्लाक क्रीम मल्टीपेन रिलीफ, हिट चूहा मार दवाई, हनी शहद आदि रखा मिला जिसे फिलहाल जप्त करते हुए पुलिस ने गोदाम सील कर दिए है इस संबंध मे जांच की जा रही है।

पुलिस ने मामला किया कायम

एक्सपायरी डेट का सामान  जो कि मानव जीवन के लिये खतरनाक हो चुका है मे डिजिटल मशीन से उनकी एक्सपायरी डेट को बदलकर नई भविष्य की डेट डालकर छलपूर्वक कूटरचित तरीके से अवैध रुप से लाभ अर्जित करने के मकसद से मुनाफाखोरी में लिप्त
अनिल खत्री, जितेन्द्र वाधवानी तथा आशु उर्फ बिट्टू ठाकुर एवं हिमांशु सोनी के विरूद्ध धारा 420,465,273, भादवि तथा 3/7 ई सी एक्ट का अपराध ंपजीबद्ध कर  जितेन्द्र वाधवानी   तथा आशु उर्फ बिट्टू ठाकुर एवं हिमांशु सोनी का प्रकरण मे विधिवत गिरफ्तारी करते हुये फरार अनिल खत्री की तलाश जारी है।

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..

ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।

विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार