40 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ धराया.. डॉक्टर जानिए क्या है ....मामला - VIKAS KI KALAM,Breaking news jabalpur,news updates,hindi news,daily news,विकास,कलम,ख़बर,समाचार,blog

Breaking

40 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ धराया.. डॉक्टर जानिए क्या है ....मामला

40 हजार की रिश्वत लेते
रंगे हाथ धराया.. डॉक्टर
जानिए क्या है ....मामला

वो दिन गए जब डॉक्टरों को धरती पर दूसरा भगवान का दर्जा दिया जाता था। आज तो हर एक दिन इन डॉक्टरों के कोई न कोई कारनामे सामने आ ही जाते है।
और इन सब की शुरुआत तब हुई जब गलत नियत के कुछ लोग शॉर्टकट अपना कर इस पवित्र कार्य मे शामिल हुए।और फिर देखते ही देखते इस पेशे को नोट छापने का धंधा ही बना लिया। जिंदा मरीजों से लूट तो चलती ही है।लेकिन मुर्दों तक से पैसे कमाने के कई किस्से भी हमारे-आपके सामने आ चुके।
हम यह नहीं कहते कि आजकल अच्छे डॉक्टर नहीं है। पर कुछ मुठ्ठी भर लोगों के कारण सभी लोग बदनाम हो रहे है।

कहाँ की है घटना...क्या है मामला..
Taza khabar,bhopal samachaar

ये पूरा मामला मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल का है। जहां के बहुप्रतिष्ठित गांधी मेडिकल कॉलेज (जीएमसी) के एक डॉक्टर की काली करतूत उजागर हुई है।
दरअसल डॉक्टर को लोकायुक्त पुलिस की टीम ने सोमवार को 40 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगेहाथों गिरफ्तार किया है। लोकायुक्त की टीम ने आरोपी डॉक्टर के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज किया है और फिलहाल आगे की कार्रवाई जारी है।

कौन है ये डॉक्टर..क्यों मांगी रिश्वत

लोकायुक्त पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार हुआ व्यक्ति गांधी मेडिकल कॉलेज के फॉरेन्सिक मेडिकल विभाग का डॉक्टर मुरली लालवानी है। जो कि छात्रों से अभद्रता करने बेवजह परेशान करने।साथ ही मेडिकल छात्रों से पैसे उगाही के नाम पर काफी चर्चित है। हालाकि इनके कारनामे कोई भी खुलकर नहीं बताता था। लेकिन डॉक्टर के गिरफ्तार होते ही डॉक्टर साहब के नए नए कारनामे सुनने को मिल रहे है।

लोकायुक्त ने क्यों किया गिरफ्तार..

बीते दिनों गांधी मेडिकल कॉलेज के एक विद्यार्थी ने लोकायुक्त विभाग जाकर एक लिखित शिकायत दी थी। शिकायत के अनुसार डॉक्टर मुरली लालवानी द्वारा विद्यार्थी से एमबीबीएस की परीक्षा पास कराने की एवज में डेढ़ लाख रुपये की रिश्वत की मांग की गई है। साथ ही पैसे जमा न किये जाने पर वह जबरन विद्यार्थी को फेल करवा देने की धमकी भी दे रहा है। उसके द्वारा कई विद्यार्थियों को पूर्व में पैसे लेकर पास किये जाने का भी जिक्र किया गया है।

योजनाबद्ध तरीके से रंगे हाथ पकड़ा
Taza khabar, breaking news,bhopal news

विद्यार्थी द्वारा की गई शिकायत की पुष्टि होने के बाद योजनाबद्ध तरीके से कार्रवाई करते हुए सोमवार को लोकायुक्त की टीम गांधी मेडिकल कॉलेज पहुंची। इस दौरान पीढित को 40 हजार के रंग लागये नोट देकर पीढित को भिजवाया। जैसे ही डॉक्टर साहब ने रिश्वत की रकम को लिया। वैसे ही लोकायुक्त की टीम ने
 डॉक्टर मुरली लालवानी के दफ्तर में दबिश देकर उन्हें 40 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगेहाथों गिरफ्तार किया। लोकायुक्त पुलिस फिलहाल मामले की जांच में जुटी है।

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..

ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।

विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार