Breaking

रविवार, 21 जून 2020

पोल्ट्री फार्म में कोरोना वायरस... जानिए क्या है...हकीकत

पोल्ट्री फार्म में कोरोना वायरस...
जानिए क्या है...हकीकत

पोल्ट्री फार्म में कोरोना वायरस की खबर पूरी तरह भ्रामक एवं आधारहीनकुक्कुट उत्पादों का उपयोग पूरी तरह सुरक्षित

     कोरोना वायरस के संक्रमण से पोल्ट्री फार्म्स एवं कुक्कुट उत्पादनों को किसी भी प्रकार का कोई खतरा नहीं है। कुक्कुट उत्पादों का सेवन पूरी तरह से सुरक्षित है। संचालक पशुपालन श्री आर.के. रोकड़े ने इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आदेश का हवाला देते हुए पोल्ट्री फार्म में कोरोना वायरस की वायरल खबर का खंडन किया।

     श्री रोकड़े ने कहा कि पशुपालन एवं डेयरी मंत्रालय भारत सरकार के संयुक्त सचिव द्वारा इस संबंध में पशुपालन विभाग के सचिवों को पत्र भी लिखा है। उन्होंने कहा कि पोल्ट्री फार्म में कोरोना वायरस कि वायरल हो रही खबर पूरी तरह भ्रामक और आधारहीन है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा अपने पत्र में पोल्ट्री बर्ड्स का उपयोग करने अथवा पोल्ट्री फार्मस् को शीघ्र बंद करने के संबंध में कोई दिशा निर्देश अथवा चेतावनी पत्र जारी नहीं किये गये हैं। उन्होंने कहा कि वायरल खबर में उल्लेखित भोपाल, ग्वालियर, देवास, इंदौर, उज्जैन, रतलाम, बड़नगर, सीहोर, बड़वानी और महू में विभाग द्वारा पोल्ट्री बर्ड्स की किसी भी प्रकार सेम्पलिंग नहीं की गई। श्री रोकड़े ने कहा कि कुक्कुट उत्पादों का उपयोग पूरी तरह से सुरक्षित है इनसे अभी तक किसी भी प्रकार के कोरोना संक्रमण का कोई संकेत नहीं है।

     उप संचालक पशु चिकित्सा सेवाएं डॉ पीके अतुलकर ने बालाघाट जिले की जनता से अपील की है कि वह पोल्ट्री फार्म की मुर्गियों के कोरोना संक्रमित पाए जाने के कारण उनका सेवन नहीं करने संबंधी अफवाहों से दूर रहें और इन भ्रामक व झूठी खबरों पर विश्वास ना करें। उन्होंने बताया कि सोशल मीडिया में भ्रामक खबरें फैला कर अफवाह फैलाई जा रही है कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा पोल्ट्री फार्म की मुर्गियों में कोरोना वायरस की पुष्टि की गई है और पोल्ट्री फॉर्म को बंद करने के आदेश दिए गए हैं। जबकि यह सही नहीं है। पशु चिकित्सा विभाग द्वारा किसी भी पोल्ट्री फॉर्म को बंद करने का आदेश नहीं दिया गया है और ना ही पोल्ट्री फार्म की मुर्गियां कोरोना से संक्रमित पायी गई है। पोल्ट्री फार्म की मुर्गियां कोरोना संक्रमित नहीं होने के कारण सेवन के लिए पूरी तरह सुरक्षित हैं।


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..

ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।

विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार