हाई रिस्क महिला की निगरानी में लापरवाही बरतने पर दो चिकित्सकों को नोटिस सर्वे दल में तैनात स्वास्थ्य विभाग के मैदानी अमले पर होगी कार्यवाही - VIKAS KI KALAM,Breaking news jabalpur,news updates,hindi news,daily news,विकास,कलम,ख़बर,समाचार,blog

Breaking

हाई रिस्क महिला की निगरानी में लापरवाही बरतने पर दो चिकित्सकों को नोटिस सर्वे दल में तैनात स्वास्थ्य विभाग के मैदानी अमले पर होगी कार्यवाही

हाई रिस्क महिला की निगरानी में लापरवाही बरतने पर दो चिकित्सकों को नोटिस.....
सर्वे दल में तैनात स्वास्थ्य विभाग के मैदानी अमले पर होगी कार्यवाही

    हाईरिस्क महिला मरीज के स्वास्थ्य की निगरानी में लापरवाही बरते जाने पर कलेक्टर भरत यादव के निर्देशानुसार मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. रत्नेश कुररिया ने शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र संजय नगर के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डा. पीसी तिवारी तथा शासकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र संजय नगर की मेडिकल मोबाइल यूनिट की प्रभारी डॉ. वैशाली भगत को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

 आगे पढ़ें :- जानिए कैसे मुनगा दिलाएगा...कुपोषण से मुक्ति....


 मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कारण बताओ नोटिस में कहा है कि शनिवार को एक महिला मरीज की कोरोना से हुई मृत्यु का उल्लेख करते हुए कहा कि स्वास्थ्य विभाग के अमले को सर्वे के दौरान चिन्हित किये गये हाईरिस्क व्यक्तियों की हफ्ते में कम से कम दो बार स्वास्थ्य परीक्षण करने के निर्देश दिये गये थे। लेकिन सोलह मई को ब्ल्ड प्रेशर, डायबिटीज एवं थाईराइड से पीडि़त इस महिला को हाईरिस्क के रूप में चिन्हित किये जाने के बावजूद दोबारा न तो स्वास्थ्य विभाग के दल द्वारा और न ही प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी और मेडिकल मोबाइल यूनिट की प्रभारी द्वारा घर जाकर उनका स्वास्थ्य परीक्षण किया गया।

जानिए क्या है..स्वास्थ्य विभाग का महा-घोटाला....


   मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने इस लापरवाही पर जारी कारण बताओ नोटिस का  शीघ्र अतिशीघ्र समक्ष में उपस्थित होकर जवाब देने के निर्देश दिये हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा है कि हाई रिस्क मरीज की निगरानी में लापरवाही के इस मामले में कलेक्टर के निर्देशानुसार सर्वे दल के सदस्यों पर भी कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने निर्देश दिये हैं कि कोविड-19 से सतर्कता और बचाव के तहत हाईरिस्क मरीज के तौर पर चिन्हित प्रत्येक व्यक्ति का सप्ताह में कम से कम दो बार स्वास्थ्य परीक्षण करने स्वास्थ्य विभाग का अमला उनके घर जाएं ताकि आगे ऐसी स्थिति निर्मित न हो।

जरूर पढें :- बड़े बड़े कॉफ़ी शॉप को टक्कर दे रहा ये देशी...दीदी कैफ़े...

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..

ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।

विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार