घर पर करें ....योग तभी भागेगा....रोग - VIKAS KI KALAM,Breaking news jabalpur,news updates,hindi news,daily news,विकास,कलम,ख़बर,समाचार,blog

Breaking

घर पर करें ....योग तभी भागेगा....रोग

घर पर करें ....योग
तभी भागेगा....रोग

अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस - स्कूल शिक्षा विभाग के वेबिनार में निर्देश

कोरोना संक्रमण के कारण बदली हुई परिस्थितियों में विश्व योग दिवस 21 जून को विद्यार्थी, अभिभावक, शिक्षक जनप्रतिनिधि और नागरिक अपने घरों में ही योग करेंगे। इस दिन सुबह 7 से 7:45 बजे तक योग दिवस के मुख्य कार्यक्रम का प्रसारण दूरदर्शन एवं अन्य समाचार चैनल पर किया जाएगा।

छटवां अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर विद्यार्थियों को अपने घरों पर ही योगाभ्यास करने की अपील की गई है। नियमित रुप से किया जाने वाला योगाभ्यास, मानव शरीर की रोग प्रतिरोधात्मक शक्ति को तो बढाता ही है साथ ही मानसिक रुप से भी सुदृढ़ बनाता है। योग से एकाग्रता और विचार शक्ति का भी विकास होता है। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर विद्यार्थियों को नियमित योगाभ्यास के लिये प्रेरित करने की बात प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा ने एक वेबिनार को संबोधित करते हुए कही।

आयुक्त लोक शिक्षण ने सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देशित किया कि योग दिवस को विद्यार्थियों के मध्य आकर्षक बनाने के लिए योग वीडियो प्रतियोगिता आयोजित की जाए। जिसके तहत विद्यार्थी अपने योगाभ्यास के 2-3 मिनिट के वीडियो बनाकर व्हाट्सएप के माध्यम से जिला शिक्षा अधिकारी को प्रेषित करेंगे। जिले स्तर पर समिति गठित कर सर्वश्रेष्ठ वीडियो को पुरस्कृत किया जाए एवं जिले के प्रथम पुरुस्कार प्राप्त वीडियो को लोक शिक्षण संचालनालय को प्रेषित किया जाए। लोकशिक्षण कार्यालय के द्वारा चयनित वीडियोज़ में से प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरुस्कार प्रदान किए जायेंगे। पुरस्कार प्राप्त वीडियो आयुष मंत्रालय भारत सरकार की लिंक पर भी प्रेषित करें।

वेबिनार में आयुक्त, राज्य शिक्षा केन्द्र ने सभी मैदानी अधिकारियों को निर्देशित किया कि अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के आयोजन के संबंध में शासन के आदेश अनुसार व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं। उन्होंने कहा कि शालेय विद्यार्थियों को योग का महत्व समझाते हुए कोरोना संक्रमण से बचाव के साथ विद्यार्थियों को अपने-अपने घरों में ही योगाभ्यास हेतु प्रेरित किया जाए।

वेबिनार में सभी संकुल प्राचार्यों सहित उत्कृष्ठ और मॉडल स्कूल के प्राचार्यों तथा सभी जिला परियोजना समन्वयक, ज़िला शिक्षा अधिकारी एवं सभी संभागों के संयुक्त संचालक सहित लगभग 1500 मैदानी सहयोगियों द्वारा सहभागिता की गई।

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..

ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।

विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार