मिस्टर इंडिया बन गए फ़ीवर क्लिनिक के जिम्मेदार... सीएमएचओ के निरीक्षण पर हुआ खुलासा.... - VIKAS KI KALAM,Breaking news jabalpur,news updates,hindi news,daily news,विकास,कलम,ख़बर,समाचार,blog

Breaking

मिस्टर इंडिया बन गए फ़ीवर क्लिनिक के जिम्मेदार... सीएमएचओ के निरीक्षण पर हुआ खुलासा....

मिस्टर इंडिया बन गए..
फ़ीवर क्लिनिक के जिम्मेदार।
सीएमएचओ के निरीक्षण पर 
हुआ खुलासा....

शहर में जगह जगह बनाये गए फ़ीवर क्लिनिक सुबह खुलते तो जरूर है।लेकिन यहां पदस्थ अधिकारी और कर्मचारी महज ओपचारिकता निभाकर दिन भर के लिए .......मिस्टर इंडिया बन जाते है। जो हाजिरी रजिस्टर में दिखते तो जरूर है। लेकिन इन्हें आम आदमी देख नही पाता। कोरोना संक्रमण काल मे आमजनों को राहत पहुचाने फ़ीवर क्लिनिकों का संधान कराया गया है। जहां पहुंचकर वे अपना उपचार करा सकें। लेकिन हकीकत तो यह है...की इन जगहों पर सफाई कर्मियों के अलावा कोई नही मिलता। 

आगे पढ़ें :- आखिर किसकी लापरवाही से सड़ गया 243 क्विंटल गेंहू....

सीएमएचओ के निरीक्षण पर हुआ खुलासा

 मुख्‍य चिकित्‍सा एवं स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारी डॉ. रत्‍नेश कुररिया ने अचानक ही उखरी क्षेत्र स्थित शहरी प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्र के निरीक्षण के फैसला किया। और आनन फनान मे सीएमएचओ साहब अपने काफिले के साथ  फीवर क्‍लीनिक का निरीक्षण करने मौके पर पहुंच गए। लेकिन जैसे ही वे फ़ीवर क्लिनिक पहुंचे तो उन्हें वो नज़ारा देखने को मिला जिसकी कल्पना उन्होंने ख्वाबों में भी न कि होगी। दरअसल निरीक्षण के समय फ़ीवर क्लिनिक में सफाई कर्मचारी के अतिरिक्‍त कोई भी अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित नहीं मिले।स्टाफ के नाम पर एक भृत्य था। 

जानिए कैसे?? जबलपुर के लाल ने कर दिया कमाल.....देश भर में हो रही चर्चा..

डॉक्टरों की आस में बैठे मरीजों का सीएमएचओ ने किया परीक्षण

फ़ीवर क्लिनिक में स्वास्थ्य लाभ लेने की उम्मीद लिए पहले से उपस्थित मरीजों के साथ मुख्य चिकित्सा/स्वास्थ्य अधिकारी ने खुलकर बातचीत की और उनकी समस्याओं को जाना। निरीक्षण के दौरान प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्र में उपस्थित मरीजों को स्‍वयं मुख्‍य चिकित्‍सा एवं स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारी द्वारा परीक्षण किया गया एवं उन्‍हें दवाईयां भी उपलब्‍ध कराई गई। 

अनुपस्थित स्टाफ पर भड़के सीएमएचओ

मुख्‍य चिकित्‍सा एवं स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारी डॉ  रत्नेश कुरारिया स्टाफ के इस लापरवाह रवैये को लेकर बेहद नाराज दिखे। उनके द्वारा सभी को लापरवाही हेतु स्‍पष्‍टीकरण दिया जाने के आदेश दिए गए। साथ ही सभी लापरवाह अधिकारियों एवं कर्मचारियों का एक दिन का वेतन काटने के निर्देश भी दिये गए।

जरूर पढ़ें :- टिड्डी के आगे...फ़िसड्डी हुए अधिकारी...सारे दावे हुए फेल....
इसके पश्‍चात मुख्‍य चिकित्‍सा एवं स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारी ने मेट्रो अस्‍पताल में संलाचित फीवर क्‍लीनिक का निरीक्षण किया, क्‍लीनिक पर संचालित स्‍वास्‍थ्‍य व्‍यवस्‍थाओं को और बेहतर बनाने के लिये निर्देश दिये गये। इसी अस्‍पताल में स्‍वास्‍थ्‍य विभाग में कार्यरत् स्‍टाफ नर्स जो कि 15 दिन पूर्व कोविड-19 की ड्यूटी के दौरान हादसे की शिकार हो गई थी, उनके स्‍वास्‍थ्‍य की जानकारी स्वयं जाकर कर्मचारी से ली गई एवं परिजनों को ईलाज में हर संभव मदद उपलब्‍ध कराने का आश्‍वासन भी सीएमएचओ द्वारा दिया गया।

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..

ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।

विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार