Breaking

गुरुवार, 28 मई 2020

गेहूं से लदा ट्रक..अचानक गायब.. कौन खा गया..280 क्विंटल गेंहू..


गेहूं से लदा ट्रक..अचानक गायब..
कौन खा गया..280 क्विंटल गेंहू..

(अमित श्रीवास्तव-सिवनी)
सरकारी गेहूं में गोलमाल वर्षो से चल आ रहा है। लेकिन इस बार तो अधिकारियों और जिम्मेदारों ने हद ही कर दी। जहां सोसायटी से 280 क्विंटल गेंहू की
 तौल पर्ची जमा कर वेयर हाउस निकला  ट्रक  रास्ते मे ही लापता हो गया। 
लेकिन जब विकास की कलम ने अधिकारियों की टांग खीचना शुरू किया तो अचानक से पूरा गेहूं स्वयं प्रकट हो गया। लेकिन आनन-फानन में की गयी व्यवस्था में एक चूक हो गयी। जुगाड़ से जो गेहूं वापस रखवाया गया था। वह गेहूं बिना टेग का था। जिससे अधिकारियों की एक बड़ी पोल उजागर हुई है।

यहां पढ़ें :- शराब ठेकेदार का खाकी कनेक्शन.. यहां जानबूझकर आंखे मूंद लेती है खाकी...

कहां का है पूरा मामला-कैसे हुआ गड़बड़झाला..

मामला मध्यप्रदेश के सिवनी जिले के थाना बंडोल में आने वाली भीमगढ़ सोसायटी का है। जहां से 560 बोरी गेंहू यानी 280 किवंटल लेकर एन एच 7 स्थित जैन वेयर हाउस के लिए निकला ट्रक क्रमांक MH 35K 8929 लापता हो गया है। बताया जा रहा है कि जैन वेयर हाउस के कर्मचारियों से सांठगांठ कर बालाघाट के एक व्यापारी द्वारा 280 क्विंटल गेंहू की फर्जी तौल पर्ची बनाकर वेयर हाउस में जमा करा दि गयी। बहरहाल इस पूरे मामले की विशेष जांच की जा रही है। जिसमे एक एक कार सभी चेहरे बेनकाब होने की आशंका है।

कैसे हुआ इस पूरे गोलमाल का खुलासा-

कहते है आग लगती है तो धुंआ तो उठेगा ही। जैसे ही इस गोलमान कि भनक वेयर हाउस के संचालक सुधीर जैन को लगी। उन्होंने इसकी खोजबीन शुरू कर दी। उन्होंने पुराने रिकार्ड खंगालना शुरू किया कि आखिर ट्रक कहाँ से आया किसने ट्रक गोदाम में किन हम्मालों द्वारा और कहा लोड किया। जब इस पूरी घटना की पड़ताल की गयी, तो 280 क्विंटल गेंहू के गोलमाल का मामला सामने आ गया । 

आगे पढ़ें :- क्या ? सेटेलमेंट के पैसे न देने के कारण हुई पुलिसवाले की पिटाई..जानिए क्या ही पूरा सच...

वेयर हाउस संचालक पहुंचा थाने लेकिन नहीं दर्ज हुई रिपोर्ट

 जैसे ही दस्तावेजों में हेरफेर का गणित  जैन वेयरहाउस के  संचालक सुधीर जैन के सामने आया  उन्हें मामले में  कई बड़े लोगों के शामिल होने की  आशंका हुई  लिहाजा इस पूरे मामले को लेकर  वेयर हाउस  के संचालक सुधीर जैन बंडोल थाने भी पहुंचे । जहां उन्होंने पूरे प्रकरण की विस्तृत जानकारी पुलिस विभाग को दी।लेकिन थाने से सुधीर जैन को खाली हाथ ही लौटना पड़ा। पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार  पूरा मामला  फूड विभाग से संबंधित है  लिहाजा इस पर कार्यवाही  फूड विभाग ही करेगा।

सूचना मिलने के बाद भी गहरी नींद में सोता रहा फूड विभाग

पुलिस थाने से खाली हाथ लौटने के बाद वेयर संचालक सुधीर जैन द्वारा इस पूरे मामले की जानकारी गेंहू खरीदी प्रभारी डीएमओ हीरेन्द्र रघुवंशी,खाद्य आपूर्ति अधिकारी एसके मिश्रा एवम वेयर हाउस कारपोरेशन के शैलेश उपाध्याय को सूचना दे दी गई । 
लेकिन ऐसा लगता है उस खेल में अधिकारियों की भी मिलीभगत होने से मामले को अभी तक गंभीरता से नही लिया है।

विकास की कलम का ख़ौफ़...आनन फानन में प्रकट हुआ नकली ट्रक

इसे विकास की कलम का ख़ौफ़ ही कहें कि जैसे ही हमने अधिकारियों से सवाल जबाब शुरू किया। वैसे ही चमत्कारिक ढंग से भीमगढ़ सोसायटी के गायब हुई 280 क्विंटल गेंहू की जगह एक नए ट्रक क्रमांक MP 14 hb 0916  ठीक 280 क्विंटल माल से भरा हुआ वेयर हाउस पहुंच गया।सूत्र बताते है कि किसी ने पोल खुल जाने के डर से उधार से गेंहू खरीदकर आनन फानन में ट्रक को खड़ा किया

खबर ये भी :- युवती का दिनदहाड़े अपहरण...वीडियो हुआ वायरल....जाने क्या है पूरी घटना..

चोर की दाढ़ी में तिनका... जल्दबाजी में बिना टेग लगा गेंहू पहुंचाया..

किसी ने सच ही कहा है.. चोर कितना भी शातिर क्यों न हो...सुराग छोड़ ही जाता है। यहां भी ठीक वैसा ही हुआ....
मिलीभगत के चलते कुछ लोग 280 क्विंटल गेंहू पचाने की फिराक में थे। लेकिन मामले को तूल पकड़ता देख उन्होंने सोचा कि क्यों न फिलहाल दूसरा गेंहू वेयर हाउस में रखवा दिया जाए। इसी मंशा से एक फर्जी ट्रक की व्यवस्था भी की गई। लेकिन जल्दबाजी में एक चूक हो गयी। 
आपको बता दे कि जिस ट्रक को वेयर हाउस पहुंचाया गया उसका नंबर अलग था। साथ ही उसमे लदा गेंहू बिना टेग लगा हुआ था।इतना ही नही...गेंहू को हाथो से सीले बारदानों में  भरकर वेयरहाउस में भरने की कवायत की जा रही थी।

वेयर हाउस संचालक ने माल लेने से किया इंकार....

चोरी छुपाने नकली ट्रक और गेंहू को वेयर हाउस तो पहुंच दिया गया। लेकिन मामला मीडिया की निगाह में आ चुका था।
लिहाजा.. वेयर हाउस संचालक ने बिना टेग का माल लेने से साफ इंकार कर दिया है। साथ ही ट्रक एवं एक छोटे वाहन को प्रांगण में खड़ा करवा कर गेट में ताला जड़ दिया है। इस मामले को लेकर खाद्य आपूर्ति अधिकारी औरविपणन संघ के डीएमओ कुछ भी कहने को तैयार नही है। जबकि वेयर हाउस की देखरेख का जिम्मा संभालने वाले अधिकारी शैलेश उपाध्याय ने मामले की जांच कराकर एफआईआर कराने की बात कही है।

जरूर पढ़ें:- ग्रेडरों का खेल--घटिया गेंहू पास..अच्छा गेंहू फेल...यहां पैसे देकर बेच जा सकता है घटिया गेंहू... जानिए क्या है पूरा मामला...

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..

ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।

विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार