कोरोना से जीती जंग अब प्लाज्मा डोनेट कर बनेंगी जीवन रक्षक.. - VIKAS KI KALAM,Breaking news jabalpur,news updates,hindi news,daily news,विकास,कलम,ख़बर,समाचार,blog

Breaking

कोरोना से जीती जंग अब प्लाज्मा डोनेट कर बनेंगी जीवन रक्षक..

कोरोना से जीती जंग
अब प्लाज्मा डोनेट कर 
बनेंगी जीवन रक्षक..


Plasma therepy

बीते एक माह तक लगातार कोरोना से डटकर मुकाबला करने वाली जबलपुर की सुनीता अग्रवाल ने कोरोना से जंग जीत ली और अब वह दूसरों को जिंदगी देने के लिए एक जीवन रक्षक बनने जा रही है। 
सुनीता अग्रवाल प्रदेश में पहले कोरोना संक्रमित मरीजों में से एक है। जो की पूर्णता स्वस्थ हो चुकी है और अब उन्होंने भोपाल के एक गंभीर कोरोना संक्रमित मरीज को अपना प्लाज्मा डोनेट करने का संकल्प ले लिया है।

कौन है सुनीता अग्रवाल


Plasma therepy

सुनीता अग्रवाल जबलपुर के जाने-माने सर्राफा कारोबारी मुकेश अग्रवाल की धर्मपत्नी है। आपको बता दें कि दुबई और थाईलैंड से लौटने के बाद जबलपुर के सराफा कारोबारी मुकेश अग्रवाल उनकी पत्नी सुनीता अग्रवाल और बेटी पलक अग्रवाल कोरोना संक्रमित पाए गए थे। 20 मार्च से लगातार उनका जबलपुर के नेताजी सुभाष चंद्र बोस मेडिकल कॉलेज अस्पताल में बनाए गए विशेष आइसोलेशन वार्ड में इलाज किया गया जहां करीब 1 माह के इलाज के बाद मध्य प्रदेश के पहले संक्रमित तीनों मरीजों को डिस्चार्ज किया गया।

ये भी पढें :- आखिर क्यों सड़कों पर उतरी..जबलपुर की जनता

क्या है प्लाज्मा थेरेपी


Plasma therepy

प्लाज्मा थेरेपी एक पुरानी तकनीक है। जब दुनिया में स्पैनिश फ्लू फैला था तब इसका इस्तेमाल काफी कारगर साबित हुआ था। इस थेरेपी से ठीक हो चुके मरीजों के खून से प्लाज्मा लेकर बीमार लोगों को चढ़ाया जाता है। ठीक हो चुके मरीजों के एंटीबॉडी से बीमार लोगों को रिकवरी में मदद मिलती है। इससे मरीज के शरीर में वायरस कमजोर पड़ने लगता है।

For Video News Click Here..


भोपाल से आई गंभीर मरीज की जानकारी

हाल ही में केंद्र सरकार के स्तर पर प्लाज्मा थेरेपी की चर्चा जब से शुरू हुई तो मध्यप्रदेश में भी इसके प्रयोग की कवायद की जा रही है। 
राजधानी  से जिला प्रशासन के पास सूचना पहुंची थी कि भोपाल में एक कोरोना मरीज की हालत गंभीर बनी हुई है लिहाज़ा उनके लिए जबलपुर जिला प्रशासन ने सुनीता अग्रवाल को प्लाज़्मा डोनेट करने के लिए राजी कर लिया।

भोपाल रवाना हुआ अग्रवाल परिवार


Plasma therepy

जिला प्रशासन के आग्रह पर सुनीता अग्रवाल ने भोपाल जाकर अपना प्लाज्मा डोनेट करने की सहमति जताई है।
प्रदेश के पहले कोरोना मरीजों में से एक सुनीता अग्रवाल  को उनके परिजनों के साथ चिकित्सा विशेषज्ञों की निगरानी में भोपाल रवाना किया गया। जहां पर वे अपना प्लाज्मा डोनेट कर कोरोना संक्रमण से ग्रसित गंभीर मरीज के जीवन को सुरक्षित करने में अपना सहयोग प्रदान करेंगी।

आगे पढ़ें :- कैसे पहुंचा कोरोना पुलिस महकमे में....

कलेक्टर ने की अग्रवाल परिवार की सराहना

 कलेक्टर भरत यादव ने प्रदेश के  पहले कोरोना संक्रमितों में शुमार अग्रवाल परिवार से जुड़ी सुनीता अग्रवाल द्वारा अपना प्लाज्मा डोनेट करने पर जताई गई सहमति पर संतोष व्यक्त किया और उनके इस काम के लिए  परिवार की सराहना की। प्लाज़्मा डोनेट करने के पहले सुनीता अग्रवाल और उनके परिवार ने इस पर खुशी जताई और कहा कि उनका प्लाज़्मा अगर दूसरों की जान बचाने में काम आता है तो यह उनके और उनके परिवार के लिए खुशी की बात है।

विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार