सड़क खा गओ सचिव..सरपंच ने भी नई लई डकार..पोर्टल में जनसंख्या बढ़ाकर किया -सरकार का बंटाधार - VIKAS KI KALAM,Breaking news jabalpur,news updates,hindi news,daily news,विकास,कलम,ख़बर,समाचार,blog

Breaking

सड़क खा गओ सचिव..सरपंच ने भी नई लई डकार..पोर्टल में जनसंख्या बढ़ाकर किया -सरकार का बंटाधार

सड़क खा गओ सचिव..सरपंच ने भी नई लई डकार..
पोर्टल में जनसंख्या बढ़ाकर किया -सरकार का बंटाधार...

10 लाख की विधायक निधि-अबे लो नई बनी रोड...



   ग्राम पंचायतों में सरपंचो के कार्यकाल समाप्त होते ही सरपंचों ने पंचायत के खातों की राशि निकालना शुरू कर दी, कई पंचायतों के आलम यह हैं कि लाखों रु पंचायत के खातों में आज सिर्फ कुछ राशि ही शेष बची है, ऐसा ही एक मामला पनागर जनपद के अंतर्गत ग्राम पंचायत मोहनिया का है, जहां पनागर विधायक द्वारा विधायक निधि से शमशान भूमि की ओर जाने का रास्ता बनाया जाना था, लेकिन सरपंच पति और सचिव ने मिलकर आवंटन भी पूरे 10 लाख की राशि आपस में बांट ली और श्मशान भूमि की ओर जाने वाला रास्ता आज भी जर्जर बना हुआ है।


आवंटन की राशि के बंदरबांट का मामला पनागर जनपद की ग्राम पंचायत मोहनिया का है जहां पनागर विधायक द्वारा विधायक निधि से शमशान भूमि की ओर जाने वाला रास्ता 10 लाख की राशि का बनाया जाना था
जिसके लिए 10 लाख रु की राशि पंचायत को दी गई लेकिन पंचायत के सरपंच सचिव ने मिलकर रोड तो बनाई नही ओर राशि का आपसी बंदरबांट कर लिया, जैसे ही मामला मीडिया कर्मियों के संज्ञान में आया आनन फानन में 3 गाड़ी गिट्टी गिरा दी गई, अब सरपंचों का कार्यकाल समाप्त होते ही शासन ने इनके सम्मिलित खातों को सील कर दिया गया है।

*10 मार्च तक समय रहते पूरा करें कार्य - कलेक्टर*

जिला कलेक्टर ने जिले की समस्त पंचायतों को स्पस्ट निर्देश थे कि 10 मार्च तक विधायक, सांसद सहित अन्य मदों की राशि जिस कार्य के लिए दी गई थी उक्त कार्यों को समय पर पूरा करें लेकिन कुछ ऐसे दबंग सरपंच सचिव हैं जिन्हें जिला कलेक्टर के आदेश को दरकिनार करते हुए राशि तो निकाल ली, पर कार्य आज तक नही हुआ।

पोर्टल में भी जमकर किया हेरफेर

पंचायत में 14वें वित्त की राशि अधिक लेने के लालच में इन्होंने पोर्टल में पंचायत की आबादी बढ़ाई, पंचायत की मूल आबादी लगभग 2900 ओर 3000 के आसपास है, पर इन्होंने पोर्टल में 5127 जनसंख्या दरसाई है,

जिसमे आने वाली 14वें वित्त की राशि लगभग 5


लाख रु की जगह ये लगभग 10 लाख रु से भी अधिक लेते हैं, शासन को चूना लगाकर अधिक राशि लेने का बड़ा मामला है

कोयले की दलाली में कईयों के हाथ काले

आपको बताने में विकास की कलम को कोई परहेज नहीं है की ऐसे भ्रष्टाचारियों के साथ कई उच्च अधिकारी भी लिप्त होते हैं, जोकि अपने परसेंटेज के चक्कर में अक्सर आंखें मूंद लेते हैं ऐसा नहीं है कि इतने बड़े गोलमाल में सिर्फ सचिव या सरपंच का हाथ हो बल्कि इस पूरे प्रकरण में नीचे से लेकर ऊपर तक सभी का एक निश्चित परसेंट फिक्स होता है यही कारण है कि कागजों में तो कार्यवाही हो जाती लेकिन उसे जमीन पर उतारने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ती है और रही बात जनता की.... तो वह तो बेचारी खामोश रहती है.. लेकिन जब कहती है... तो सौ टके की बात कहती है.....

*इनका कहना है-*


शांति धाम के लिए रोड लगभग डेढ़ वर्ष पहले रोड का निर्माण कार्य किया जा चुका था, इस समय 4 - 5 महीनों से किसी भी तरह का कोई निर्माण कार्य नही हुआ है, अगर पंचायत की विधिवत जांच कराई जाए तो लाखों रु का भ्रस्टाचार निकलेगा -

*रामराज पटेल, उपाध्यक्ष जनपद पनागर*

अब आनन-फानन में जरूर बनेगी सड़क

विकास की कलम ने जैसे ही इस पूरे मामले को जिम्मेदारों तक पहुँचाया। पनागर से लेकर जबलपुर तक हड़कंप मच गया। पोल खुल न जाये इस डर से सभी अपनी अपनी कलम बचाने में लगे हुए है। सूत्रों की माने तो सोमवार से सड़क का काम आनन-फानन में शुरू किए जाने की बात भी की जा रही है।

विकास की कलम

चीफ एडिटर
विकास सोनी
(लेखक विचारक पत्रकार)