Breaking

शुक्रवार, 10 जनवरी 2020

सगोत्र विवाह के खिलाफ है सीएम मनोहर लाल खट्टर, कही ये बात

चंडीगढ़: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (CM Manohar Lal Khattar) अपने बयानों की वजह से अक्सर सुर्खियों में रहते हैं. इस बार उन्होंने खाप पंचायत और सगोत्र विवाह पर टिप्पणी की है. सीएम खट्टर एक कार्यक्रम में अपनी बात रख रहे थे. वहां उन्होंने कहा कि समान गोत्र में शादी नहीं होनी चाहिए. खाप पंचायत को बदनाम किया गया. इस दौरान उन्होंने गुजरात की तारीफ करते हुए वहां की सामाजिक परंपरा का भी उदाहरण दिया.
सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा, 'हरियाणा बहुत चीजों की मान्यता को आज भी मानता है, हालांकि संवैधानिक तौर पर टकराव जरूर दिखता है लेकिन उसके ऊपर जन-जागरण हमको करना पड़ेगा. आज हमारे यहां खाप पंचायत को बदनाम किया गया. बहुत से ऐसे विरोधाभासी विचार इस बारे में आते रहे लेकिन खाप का एक सूत्र जो मुझे ध्यान में आया. उन्होंने कहा कि एक गांव के अंदर सगोत्र विवाह (समान गोत्र में शादी) नहीं होना चाहिए.'
मुख्यमंत्री ने आगे कहा, 'ये साइंटिफिकली भी प्रूव हो गया है कि सगोत्र विवाह नहीं होना चाहिए. गांव के गांव में शादी न करें, इसका अर्थ ये है कि गांव के अंदर बच्चों में ये शिक्षा दी जाती है कि भाई-बहन का भाईचारा बना रहे. गुजरात एक ऐसा राज्य है, उस स्टेट में हर लड़की और महिला, उसके नाम के आगे क्या लगता है, बहन लगता है और हर पुरुष और लड़के के नाम के आगे भाई लगता है. इसका अर्थ क्या है, उन्होंने अपनी एक सामाजिक परंपरा बना रखी है.'

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार