सर्दी का सितम: घने कोहरे, शीत लहर, बारिश और ओले के साथ नए साल का स्वागत करेगा मौसम - Vikas ki kalam,जबलपुर न्यूज़,Taza Khabaryen,Breaking,news,hindi news,daily news,Latest Jabalpur News

Breaking

सर्दी का सितम: घने कोहरे, शीत लहर, बारिश और ओले के साथ नए साल का स्वागत करेगा मौसम

राजधानी दिल्ली और एनसीआर समेत पूरा उत्तर भारत भीषण ठंड की चपेट में है। नए साल के आगमन तक मौसम के मिजाज से राहत की उम्मीद नहीं है। मौसम विभाग का कहना है कि आने वाले दिनों में उत्तर प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़ और राजस्थान समेत उत्तर भारत के कई हिस्सों में घना कोहरा रहेगा। इस दौरान कई इलाकों में शीत लहर, बारिश और ओले पड़ने की भी आशंका है।उधर दिल्ली में शुक्रवार की रात इस मौसम में सबसे ठंडी रही। लोधी रोड 1.7 डिग्री सेल्सियस न्यूनतम तापमान के साथ सबसे ठंडा रहा। अधिकतम तापमान सामान्य से 6 डिग्री कम 14.4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। मौसम विभाग के मुताबिक अगले दो दिन के तापमान में भी कोई बड़ा उलटफेर नहीं होगा।

अगले तीन दिनों में पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, राजस्थान व यूपी और दो दिनों तक मध्य प्रदेश, बिहार, झारखंड, सिक्किम और ओडिशा व अगले पांच दिन तक उत्तर पूर्वी भारत में घना कोहरा रह सकता है। 30 दिसंबर से पश्चिमी विक्षोभ फिर सक्रिय होगा।

इससे उत्तर-पश्चिम और मध्य भारत के कुछ इलाकों में 31 दिसंबर से पहली जनवरी के बीच ओले पड़ने की आशंका है। चुरू में शुक्रवार को पारा जमाव बिंदु से नीचे (-0.6 डिग्री) पहुंच गया। वहीं जम्मू-कश्मीर के पहलगाम में पारा -12 डिग्री रहा।

दिल्ली में तापमान 2.4 डिग्री पर
भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार दिल्ली में शनिवार सुबह 06:10 बजे तापमान 2.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इससे पहले शुक्रवार दिन में दिल्ली में न्यूनतम तापमान 4.2 दर्ज किया गया है। दिल्ली में ज्यादातर जगहों पर 12 दिन से हाड़ कंपाने वाली सर्दी है। सर्दी का 118 साल का रिकॉर्ड टूट सकता है।
 
अगले पांच दिन के पूर्वानुमान के आधार पर इस महीने का अधिकतम औसत तापमान 19.15 डिग्री रह सकता है। ऐसा हुआ तो 1901 के बाद यह दूसरा सबसे ठंडा दिसंबर होगा। 1997, 1998, 2003 और 2014 में भी सर्दी का ऐसा दौर चला था। यूपी के लखनऊ में पारा 7.7 डिग्री रहा।

दिल्ली-एनसीआर की हवा प्रदूषित, सूचकांक गंभीर स्तर के नजदीक
हवाओं के कमजोर पड़ने से दिल्ली-एनसीआर एक बार फिर प्रदूषण की चपेट में है। दिल्ली समेत दूसरे शहरों में हवा की गुणवत्ता बेहद खराब से गंभीर स्तर की सीमा पर पहुंच रही है। दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक शुक्रवार को 373 पर रहा।

गाजियाबाद का सूचकांक 384, नोएडा का 396, ग्रेटर नोएडा का 382, गुरुग्राम का  292 व फरीदाबाद का 392 था। शनिवार व रविवार को इसमें बढ़ोत्तरी होने का अंदेशा है। 28 दिसंबर की रात इसके गंभीर स्तर पहुंचने का अनुमान है। अगले दिन भी हालात नहीं बदलेंगे।

पेज